लखनऊ में आशा वर्कर्स से मिलीं प्रियंका गांधी, कहा- हर वक्त जो लोगों के लिए डटी रहती हैं, उनको पीट रही योगी सरकार

प्रियंका गांधी ने कहा कि आशा बहनें कोरोना के दौरान, टीकाकरण के समय, प्रसव एवं अन्य मौकों पर दिन रात डटी रहीं। लेकिन आज पूरे प्रदेश भर में उनको प्रताड़ित किया जा रहा है। उनका मानदेय कम है, समय पर नहीं मिलता, भ्रष्टाचार है और आवाज उठाने पर उनको पीटा जाता है व उनका अपमान किया जाता है।

फोटो: @priyankagandhi
फोटो: @priyankagandhi
user

नवजीवन डेस्क

शाहजहांपुर में पुलिस की पिटाई का शिकार आशा कार्यकर्ताओं से कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने गुरुवार को लखनऊ में मुलाकात की, प्रियंका गांधी ने इस दौरान उनकी समस्याओं पर चर्चा की। आपको बता दें, आशा वर्कर्स को हाल ही में पुलिस ने पीटा था, जब उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शाहजहांपुर दौरे के दौरान उनसे मिलने का प्रयास किया था। वे अपनी मांगों को लेकर मुख्यमंत्री से मिलना चाहती थीं, लेकिन बैठक नहीं हो सकी।

मुलाकात के बाद प्रियंका गांधी ने ट्वीट भी किया। उन्होंने तस्वीरें शेयर कर लिखा "आज मैंने शाहजहांपुर में पुलिस द्वारा प्रताड़ित की गईं आशा बहनों से मुलाकात की। उनको अपनी मांगें उठाने के लिए मुख्यमंत्री जी की सभा के बाहर बेरहमी से पीटा गया था। आशा बहनें कोरोना के दौरान, टीकाकरण के समय, प्रसव एवं अन्य मौकों पर दिन रात डटी रहीं। लेकिन आज पूरे प्रदेश भर में उनको प्रताड़ित किया जा रहा है। उनका मानदेय कम है, समय पर नहीं मिलता, भ्रष्टाचार है और आवाज उठाने पर उनको पीटा जाता है व उनका अपमान किया जाता है।

प्रियंका गांधी ने आगे कहा कि आशा बहनों, आप सम्मान और अच्छे मानदेय की हकदार हैं। मैं कंधे से कंधा मिलाकर इस लड़ाई में आपके साथ हूं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia