योगी सरकार में शर्मसार करने वाली घटना! गैंगरेप पीड़िता को नहीं मिला न्याय तो की खुदकुशी, पुलिस पर लगे आरोप

मृतक पीड़िता के पिता ने आरोप लगाया कि उनकी बेटी पुलिस अधीक्षक कार्यालय भी गई थी जहां उसे डांटा गया और घर लौटने के लिए कहा गया। उन्होंने कहा, "इसके बाद उसने अपनी जीवन समाप्त करने का बड़ा कदम उठाया।"

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश के अंबेडकर नगर जिले में एक बलात्कार पीड़िता ने कथित तौर पर आत्महत्या कर ली, क्योंकि पुलिस ने उसकी शिकायत पर कार्रवाई नहीं की और यहां तक कि उसके मामले को आगे बढ़ाने की उसकी जिद को लेकर डांट भी लगाई। मृतक पीड़िता के पिता ने आरोप लगाया कि उनकी बेटी पुलिस अधीक्षक कार्यालय भी गई थी जहां उसे डांटा गया और घर लौटने के लिए कहा गया।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, "इसके बाद उसने अपनी जीवन समाप्त करने का बड़ा कदम उठाया।"

इस मामले को लेकर उन्होंने आगे बताया, "16 सितंबर को, मेरी बेटी स्कूल गई थी, लेकिन घर नहीं लौटी। हमने पुलिस में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की। वह दो दिन बाद वापस आई और हमें बताया कि उसे दो युवक लखनऊ ले गए थे, जिसने होटल के एक कमरे में उसके साथ बलात्कार किया।"

पिता ने दावा किया, "पुलिस उनकी बेटी पर मामले में समझौता करने का दबाव बना रही थी। जबकि उनकी बेटी ने मालीपुर पुलिस को यहां तक कह दिया था कि अगर उसने कार्रवाई नहीं की तो वह आत्महत्या कर लेगी।"

पुलिस अधीक्षक अजीत सिन्हा ने बताया, "इस मामले में बच्ची का मेडिकल परीक्षण कराया गया है। बयान के आधार पर दो लोगों ने दुष्कर्म की पुष्टि की है। अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई की जायेगी। इस बीच, वरिष्ठ पुलिस अधिकारी आत्महत्या के बारे में जानने के बाद उसके घर गए हैं। हम मामले में मुस्तैदी के साथ कार्रवाई करेंगे।"

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia