शरद पवार ने महाराष्ट्र में सरकार बनाने से किया इनकार, शिवसेना से पूछा-कहां से आई 170 विधायकों की सूची

एनसीपी नेता शरद पवार ने साफ कर दिया है कि वे महाराष्ट्र में सरकार बनाने की कोशिशें नहीं कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने शिवसेना से भी पूछा कि आखिर किस आधार पर वह 170 विधायकों के समर्थन का दावा कर रही है।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

महाराष्ट्र में कौन बनेगा मुख्यमंत्री, किसकी बनेगी सरकार, और कौन होगा सरदार...इस सवाल का जवाब तो नतीजे आने के दो सप्ताह के बाद भी नहीं मिला है, लेकिन ऐसे में महाराष्ट्र की राजनीति के जर्रे-जर्रे से वाकिफ एनसीपी नेता शरद पवार ने साफ कर दिया है कि सरकार बनाने का एकमात्र विकल्प तो बीजेपी और शिवसेना के पास ही है।

शरद पवार ने बुधवार को मुंबई में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने का व्यहार्य (प्रैक्टिकल) गठजोड़ सिर्फ शिवसेना और बीजेपी के पास ही है। उन्होंने कहा, “बीजेपी-शिवसेना 25 साल से सहयोगी हैं। उन्हें राज्य को नई सरकार देने के लिए तत्काल कदम उठाने चाहिए। जनता ने एनसीपी-कांग्रेस को विपक्ष में बैठने का जनादेश दिया है और हम इसके लिए तैयार हैं।"

लेकिन शरद पवार ने शिवसेना की तरफदारी करते हुए कहा कि वह महाराष्ट्र में शिवसेना की अगुवाई वाली सरकार देखने को उत्सुक हैं। तो क्या शिवसेना ने एनसीपी के साथ सरकार बनाने की कोई कोशिश नहीं की। इसके जवाब में पवार ने कहा कि सरकार गठन के मुद्दे पर शिवसेना की ओर से कोई प्रस्ताव नहीं आया है। शिवसेना नेता संजय राउत की उनके साथ मुलाकातों पर उन्होंने कहा कि. “संजय राउत मुझसे मिले, क्योंकि वह नियमित रूप से मुझसे मिलते हैं। शिवसेना की ओर से कोई प्रस्ताव (सरकार के गठन पर) नहीं है।"

शरद पवार ने माना कि संजय राउत ने उन्हें 170 विधायकों की सूची दिखाई है जो शिवसेना का समर्थन कर रहे हैं। लेकिन उन्होंने साफ किया कि, "मुझे नहीं पता कि उन्हें (राउत को) आंकड़े कैसे मिले हैं।"

एक सवाल के जवाब में पवार ने कहा कि वह बीजेपी-शिवसेना के बीच राज्य में सरकार के गठन के प्रयासों में शामिल नहीं हैं। उन्होंने कहा कि फिलहाल पहले बीजेपी को सरकार बनाने दें, क्योंकि वर्तमान में लोगों के जनादेश के अनुसार सिर्फ बीजेपी-शिवसेना द्वारा सरकार बनाने का ही विकल्प उपलब्ध है। पवार ने बीजेपी और शिवसेना को राज्य में राजनीतिक अस्थिरता को समाप्त करने और स्थिर सरकार देने के लिए प्रयास करने का आग्रह किया।

शरद पवार के बयान के बाद शिवसेना नेता संजय राउत ने एक बार फिर बीजेपी को चुनौती देते हुए कहा है कि, "जिनके पास 105 विधायक हैं, उन्हें सरकार बनानी चाहिए।" इस बयान से शिवसेना ने साफ कर दिया है कि मुख्यमंत्री के पद का मुद्दा सुलझने तक बीजेपी पर शिवसेना का दबाव बनारहेगा।

इस बीत बुधवार को ही शिवसेना और बीजेपी नेताओं की बैठक हुई, जिसमें देवेंद्र फडणवीस, रामदास कदम समेत कई बड़े नेता शामिल हुए। बताया गया कि दोनों पार्टियों के नेताओं ने किसानों के मसले चर्चा की। लेकिन बैठक के बाद बीजेपी नेता सुधीर मुनगंटीवार ने कहा कि ‘आज सरकार गठन को लेकर चर्चा नहीं हुई, लेकिन जल्द ही अच्छी खबर मिलने वाली है।’ सुधीर मुनगंटीवार ने कहा कि सरकार देवेंद्र फडणवीस की अगुवाई में ही बनेगी।

लोकप्रिय