शरद पवार ने 'जलियांवाला बाग हत्याकांड' से की लखीमपुर हिंसा की तुलना, बोले- SC के मौजूदा जज की निगरानी में हो जांच

इस पूरे मामले की जांच की मांग करते हुए शरद पवार ने कहा, सुप्रीम कोर्ट के सीटींग जज की कमिटी स्थापित कर के जांच होनी चाहिए। सत्ता का दुरूपयोग किया जा रहा है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने लखीमपुर खीरी हिंसा मामले की निंदा करते हुए इसे जलियांवाला बाग हत्याकांड जैसी स्थिति करार दिया। उन्होंने कहा यूपी में आज वैसी ही स्थिति हो गई है। शारद पवार ने मंगलवार को अपने दिल्ली स्थित आवास पर मीडिया से बात करते हुए कहा, जलियांवाला बाग में जैसे स्थिती थी, वैसी आज यूपी में हो गई है। किसान ये भूलेगा नहीं। केंद्र सरकार को असंतोष का सामना करना पडेगा ! बीजेपी सरकार के काफिले ने किसानों की हत्या की है। किसानों की हत्या के लिए यूपी सरकार और केंद्र सरकार जिम्मेदार है।

वहीं इस पूरे मामले की जांच की मांग करते हुए शरद पवार ने कहा, सुप्रीम कोर्ट के सीटींग जज की कमिटी स्थापित कर के जांच होनी चाहिए। सत्ता का दुरूपयोग किया जा रहा है।

गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी में रविवार को हुई हिंसा में 8 लोगों के मारे जाने की जानकारी सामने आ रही है, जिसमें किसान भी शामिल हैं। उत्तरप्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए लखीमपुर आ रहे थे, इसके खिलाफ किसानों द्वारा विरोध प्रदर्शन किया जा रहा था।

इस घटना को लेकर एनसीपी, कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, बहुजन समाजवाद, टीएमसी, आम आदमी पार्टी, एमआइएम सहित कई विपक्षी दलों ने सवाल उठाए हैं। पीड़ित परिवार को मुआवजे और नौकरी देने के साथ सुप्रीम कोर्ट के सीटिंग जज की अध्यक्षता में जांच कराने की मांग की जा रही है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia