WHO का डाटा शेयर कर राहुल बोले- देश में कोरोना से 4.8 लाख नहीं, 47 लाख लोगों की मौत, मोदी झूठ बोलते हैं, विज्ञान नहीं

राहुल गांधी ने कहा कि कोरोना के कारण 47 लाख भारतीयों की मौत हुई। 4.8 लाख नहीं जैसा कि सरकार ने दावा किया है। मोदी झूठ बोलते हैं, विज्ञान झूठ नहीं बोलता। उन परिवारों का सम्मान करें, जिन्होंने अपनों को खोया है। मृतकों के परिजनों को 4 लाख रुपये मुआवजा दें।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश में कोरोना वायरस से हुई मौतों को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार को फिर घेरा है। भारत में कोरोना से हुई मौतों का WHO का डाटा शेयर करते हुए राहुल गांधी ने लिखा, “कोविड महामारी के कारण 47 लाख भारतीयों की मौत हुई। 4.8 लाख नहीं जैसा कि सरकार ने दावा किया है। मोदी झूठ बोलते हैं, विज्ञान झूठ नहीं बोलता। उन परिवारों का सम्मान करें, जिन्होंने अपनों को खोया है। मृतकों के परिजनों को 4 लाख रुपये मुआवजा दें।”

भारत ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के उस दावे का खंडन किया, जिसमें विश्व स्वास्थ्य निकाय ने कहा है कि भारत में कोविड-19 की वजह से 47 लाख लोगों ने जान गंवाई है। ये संख्या भारत की ओर से जारी आधिकारिक आंकड़ों से करीब 10 गुना ज्यादा है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया, "इस मॉडलिंग अभ्यास की प्रक्रिया, कार्यप्रणाली और परिणाम पर भारत की आपत्ति के बावजूद, डब्ल्यूएचओ ने भारत की चिंताओं को पर्याप्त रूप से संबोधित किए बिना अतिरिक्त मृत्यु दर अनुमान जारी किया है। भारत ने डब्ल्यूएचओ को यह भी सूचित किया था कि भारत के रजिस्ट्रार जनरल (आरजीआई) द्वारा नागरिक पंजीकरण प्रणाली (सीआरएस) के माध्यम से प्रकाशित प्रामाणिक डेटा की उपलब्धता को देखते हुए, गणितीय मॉडल का उपयोग भारत के लिए अतिरिक्त मृत्यु संख्या को पेश करने के लिए नहीं किया जाना चाहिए।"

वहीं, ICMR के DG बलराम भार्गव ने कहा, “WHO के पास भी कोविड से हुई मृत्यु को परिभाषित करने का कोई पैमाना नहीं था। हमने डेटा से निष्कर्ष निकाला कि कोविड होने के बाद 95 फीसदी मृत्यु शुरू के 4 हफ्तों में हो रहीं थीं। शुरू के 30 दिनों में हुई मुत्यु को हमने कोविड से हुई मृत्यु को परिभाषित किया है।”

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 06 May 2022, 9:39 AM