शिया धर्मगुरु डॉ. कल्बे सादिक का लखनऊ में निधन, दुनिया भर में अमन और प्रेम के पैगाम के लिए जाने जाते थे

आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के उपाध्यक्ष और शिया धर्मगुरु डॉ. कल्बे सादिक का निधन हो गया है। वह पिछले कुछ दिनों से गंभीर रूप से बीमार थे और लखनऊ के अस्पताल में वेंटिलेटर सपोर्ट पर थे। डॉ सादिक पूरी दुनिया में भाईचारे और मोहब्बत के पैगाम के लिए जाने जाते थे।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के उपाध्यक्ष और शिया धर्मगुरु डॉ. कल्बे सादिक का मंगलवार रात निधन हो गया। उनके बेटे कल्बे सिब्तैन नूरी ने उनके निधन की पुष्टि करते हुए बताया कि 17 नवंबर को उनकी तबीयत बिगड़ने और सांस में तकलीफ होने पर उन्हें लखनऊ के एरा मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। वहां तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था। लेकिन उनकी तबीयत बिगड़ती रही और मंगलवार रात 10 बजे उन्होंने आखिरी सांस ली।

मौलाना कल्बे सादिक शिया धर्मगुरु होने के साथ ही विद्वान भी थे। वह लंबे समय से आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड के उपाध्यक्ष थे। वह धार्मिक मामलों के अलावा सामाजिक कार्यों में भी सक्रिय रहे। खासकर लड़कियों और गरीब बच्चों की शिक्षा के लिए उन्होंने काफी काम किया है। वह लखनऊ में यूनिटी कॉलेज और एरा मेडिकल कालेज के संरक्षक थे।

डॉ. कल्बे सादिक पूरी दुनिया में आपसी भाईचारे और मोहब्बत के पैगाम के लिए जाने जाते थे। वह शिया धर्मगुरु के साथ विद्वान होने के नाते दुनिया भर के देशों में जाकर प्यार और आपसी भाईचारे का पैगाम देते थे। वह शिया धर्म गुरु होने के नाते विदेशों में मजलिस पढ़ने भी जाते थे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 24 Nov 2020, 11:56 PM
लोकप्रिय
next