जहरीली शराब से 12 मौतों के बाद जागी शिवराज सरकार, आबकारी अधिकारी और थानेदार निलंबित

पूरे देश को दहला देने वाली इस घटना पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मुरैना में जहरीली शराब की घटना अत्यंत दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है। जांच के आदेश दे दिए गए हैं। जो भी व्यक्ति दोषी होंगे, उनके विरुद्ध कठोर कार्रवाई होगी।

फोटोः rewanewsmedia
फोटोः rewanewsmedia
user

नवजीवन डेस्क

मध्य प्रदेश के मुरैना जिले में जहरीली शराब पीने से अब तक 12 लोगों की जान चली गई है, जबकि 7 लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है। इतने बड़े हादसे के बाद अब जाकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं। इसके बाद प्रशासन ने आनन-फानन में स्थानीय थाना प्रभारी और आबकारी अधिकारी को निलंबित कर दिया है।

सूबे के साथ पूरे देश के दहला देने वाली इस घटना पर मुख्यमंत्री शिवराज चौहान ने कहा कि मुरैना में जहरीली शराब दुर्घटना अत्यंत दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है। दुर्घटना की जांच के आदेश दिए गए हैं। कमिश्नर ग्वालियर-चंबल ने जांच दल बनाया है, जिसने जांच शुरू कर दी है। जो भी व्यक्ति दोषी होंगे, उनके विरुद्ध कठोर कार्रवाई होगी। चौहान ने कहा कि घटना में प्रथमदृष्टया सुपरविजन में लापरवाही पाए जाने पर जिला आबकारी अधिकारी मुरैना को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।

वहीं, राज्य के गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा का कहना है कि मुरैना में जहरीली शराब पीने से हुई मौतों की घटना बेहद दुखद और पीड़ादायक है। इस मामले में संबंधित थाना प्रभारी को सस्पेंड कर दिया गया है। जांच के लिए अलग से एक टीम भी भेजी जा रही है। घटना के लिए जिम्मेदार किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा।

गौरतलब है कि मुरैना जिले के दो गांवों में जहरीली शराब पीने से बड़ी संख्या में लोग बीमार हुए हैं। इनमें से 12 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है, वहीं 7 से ज्यादा गंभीर रूप से बीमार हैं। इन सभी का मुरैना के जिला अस्पताल और ग्वालियर के अस्पताल में इलाज जारी है। वहीं मृतकों के परिजनों में इस घटना को लेकर आक्रोश है। इस मामले में 7 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय
next