बारिश के कहर से संभलते तमिलनाडु को झटका, मौसम विभाग ने फिर की भारी वर्षा की भविष्यवाणी

आईएमडी की भविष्यवाणी को देखते हुए अग्निशमन, पुलिस, स्वास्थ्य, समेत आपदा और बचाव कर्मियों ने किसी भी स्थिति से निपटने के लिए कमर कस ली है। सीएम स्टालिन ने जमीनी हालात का पता लगाने के लिए मुख्य सचिव सहित वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक बैठक की अध्यक्षता भी की।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई और उसके आसपास के जिलों में हाल ही में भारी बारिश के कहर के बाद हालात अभी सामान्य भी नहीं हुए कि मौसम विभाग ने बुधवार और गुरुवार को भारी बारिश की भविष्यवाणी की है। आईएमडी ने गुरुवार को चेन्नई और उससे सटे जिलों तिरुवल्लूर, कांचीपुरम और चेंगलपट्टू के लिए रेड अलर्ट जारी किया है और इन क्षेत्रों में भारी बारिश की संभावना है। आईएमडी ने चेतावनी दी है कि अत्यधिक भारी बारिश से कुछ जगहों पर 20.4 सेंटीमीटर तक वर्षा हो सकती है।

आईएमडी ने चेतावनी दी है कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र एक संबद्ध चक्रवाती सर्कुलेशन के साथ बारिश लाने वाले क्षेत्र में बना हुआ है। यह पश्चिम की ओर बढ़ सकता है और पश्चिम-मध्य और दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी तक पहुंच सकता है। इससे गुरुवार को दक्षिण आंध्र प्रदेश और उत्तरी तमिलनाडु के तटों पर बारिश हो सकती है।


इस बीच, चेन्नई और उसके आसपास के जिलों में बुधवार दोपहर को मध्यम से भारी बारिश हुई और आसमान में बादल छाए रहे। एक निजी फर्म में आईटी पेशेवर सरवनकुमार ने बताया, "हम धीरे-धीरे पहले की बारिश से उबर रहे हैं और अडयार में मेरा पड़ोस अभी भी पानी से भरा हुआ है। आज दोपहर से वातावरण में बादल छाए हुए हैं और यहां अंधेरा है। चेन्नई और आसपास के इलाकों में एक बार और भारी बारिश हो सकती है।"

आईएमडी ने यह भी भविष्यवाणी की है कि बुधवार रात तक चेन्नई और आसपास के जिलों के कुछ हिस्सों में भारी से अत्यधिक बारिश हो सकती है और पुडुचेरी तक फैल सकती है। इसे देखते हुए अग्निशमन और बचाव कर्मियों, पुलिस, स्वास्थ्य विभाग, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल और राज्य आपदा मोचन बल ने किसी भी स्थिति से निपटने के लिए कमर कस ली है। मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन ने चेन्नई और आसपास के क्षेत्रों में जमीनी स्तर की स्थिति का पता लगाने के लिए मुख्य सचिव सहित वरिष्ठ अधिकारियों की एक बैठक की अध्यक्षता की है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia