मुकेश अंबानी के घर के बाहर खड़ी एसयूवी के मालिक हिरेन की ऑटोप्सी रिपोर्ट पर 'चुप्पी', जानें कहां तक पहुंची जांच

पुलिस उपायुक्त (जोन-1) अविनाश अम्बुरे ने कहा कि चार सदस्यीय मेडिकल टीम द्वारा की गई इस ऑटोप्सी के निष्कर्ष पर फिलहाल कोई खुलासा नहीं किया गया है, जबकि उनके विसरा को फॉरेन्सिक जांच के लिए संरक्षित रखा गया है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

आईएएनएस

रिलायंस ग्रुप के मालिक मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिली स्कॉर्पियो कार के मालिक बिजेनसमैन मनसुख हिरेन के पार्थिव शरीर की ऑटोप्सी यहां शनिवार को तड़के पूरी कर ली गई। संदिग्ध परिस्थितियों में हुई हिरेन की मौत के बाद उनके शव को कीचड़ से बाहर निकाला गया था। पुलिस उपायुक्त (जोन-1) अविनाश अम्बुरे ने कहा कि चार सदस्यीय मेडिकल टीम द्वारा की गई इस ऑटोप्सी के निष्कर्ष पर फिलहाल कोई खुलासा नहीं किया गया है, जबकि उनके विसरा को फॉरेन्सिक जांच के लिए संरक्षित रखा गया है।

हिरेन उस वक्त सुर्खियों में आए, जब 25 फरवरी को मुकेश अंबानी के घर के बाहर उनकी चुराई गई स्कॉर्पियो कार में 20 जिलेटिन की छड़ें और एक धमकी भरा पत्र मिला था। इसके बाद संदिग्ध परिस्थितियों में हिरेन की मौत होने की खबर आई। इस बात की संभावना जताई जा रही है कि हिरेन के परिवार को उनका शव दोपहर के आसपास सौंप दिया जाएगा। यह मामला इस वक्त एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड के जिम्मे है। हिरेन के घर बाहर एसआरपीएफ की तैनाती की गई है।


बता दें कि हिरेन ठाणे आधारित एक व्यवसायी थे। शुरू में पता चला था कि 25 फरवरी को मुंबई में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन मुकेश अंबानी के घर के नीचे संदिग्ध अवस्था में खड़ी मिली गाड़ी उन्हीं की थी। जांच के दौरान गाड़ी के अंदर से 20 जिलेटिन की छड़ें और टूटी-फूटी अंग्रेजी में टाइप किया हुआ एक धमकी भरा पत्र बरामद हुआ था। जांच में पता चला था कि हिरेन की गाड़ी चोरी हो गई थी और उन्होंने अपनी स्कोर्पियो एसयूवी के चोरी होने की सूचना भी दी थी। लेकिन बाद में पता चला कि गाड़ी किसी अन्य शख्स की थी।

इस बीच ‘आज तक’ की खबर के अनुसार अंबानी के घर के बाहर मिली विस्फोटकों से भरी गाड़ी के मामले में पहले जांच अधिकारी रहे क्राइम ब्रांच के अधिकारी ने बताया कि मनसुख हिरेन को पिछले कुछ दिनों से कुछ लोग परेशान कर रहे थे। खबर के मुताबिक मनसुख ने अधिकारी से शिकायत की थी कि कुछ पुलिस अधिकारी और रिपोर्टर उन्हें परेशान कर रहे थे। हालांकि, वे कौन पुलिस वाले और पत्रकार हैं, यह पता नहीं चल सका है।

इसे भी पढ़ें: अंबानी के घर के पास मिली संदिग्ध कार के मालिक की मौत, कुछ लोगों द्वारा परेशान करने का लगाया था आरोप!

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia