सीताराम येचुरी लगातार तीसरी बार CPM के महासचिव बने, 23वीं पार्टी कांग्रेस में हुआ चुनाव

सीताराम येचुरी को प्रकाश करात के बाद पहली बार अप्रैल 2015 में विशाखापत्तनम में 21वीं पार्टी कांग्रेस के दौरान पार्टी महासचिव के रूप में चुना गया था। इसके बाद उन्हें 18 अप्रैल 2018 को हैदराबाद में 22वीं पार्टी कांग्रेस में इस पद के लिए फिर से चुना गया था।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

सीपीएम के वरिष्ठ नेता सीताराम येचुरी लगातार तीसरी बार पार्टी महासचिव के पद के लिए निर्वाचित हुए हैं। रविवार को पार्टी के 23वें कांग्रेस सम्मेलन में इसकी घोषणा की गई। इससे पहले 23वीं पार्टी कांग्रेस के दौरान येचुरी को 17 सदस्यीय पोलित ब्यूरो और 85 सदस्यीय केंद्रीय समिति ने महासचिव के रूप में फिर से चुना।

सीताराम येचुरी को पहली बार अप्रैल 2015 में विशाखापत्तनम में 21वीं पार्टी कांग्रेस के दौरान पार्टी महासचिव के रूप में चुना गया था। इसके बाद उन्हें 18 अप्रैल, 2018 को हैदराबाद में हुई 22वीं पार्टी कांग्रेस में इस पद के लिए फिर से चुना गया था। उन्हें प्रकाश करात के बाद पार्टी के महासचिव के रूप में चुना गया था, जिन्होंने 2005 से 2015 तक पद संभाला था।


एलडीएफ के संयोजक और केरल सीपीएम के पूर्व कार्यवाहक सचिव ए. विजयराघवन को केरल से पोलित ब्यूरो का नया सदस्य बनाया गया है। अखिल भारतीय किसान सभा के अध्यक्ष अशोक दावले और दलित नेता राम चंद्र डोम भी पार्टी के सर्वोच्च निर्णय लेने वाले निकाय पोलित ब्यूरो में दो नए सदस्य बनाए गए हैं। पश्चिम बंगाल के राम चंद्र डोम पोलित ब्यूरो में शामिल होने वाले पहले दलित नेता बन गए हैं, जो सीपीएम की सर्वोच्च निर्णय लेने वाली संस्था है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;