तो इस डर से सीतारमण ने बजट में नहीं बताया रोजगार देने का आकंड़ा, वित्त मंत्री से राहुल बोले- डरिए मत, जवाब दीजिए

राहुल गांधी ने बेरोजगारी का मुद्दा उठाते हुए मोदी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि युवाओं को रोजगार देना सरकार की जिम्मेदारी है और इस जिम्मेदारी को निभाने में सरकार नाकाम रही है। उन्होंने आगे कहा कि वित्त मंत्री जी, मेरे सवालों से मत डरिए। मैं ये सवाल देश के युवाओं की ओर से पूछ रहा हूं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

आने वाले सालों में केंद्र की मोदी सरकार देश के युवाओं को कुल कितना रोजगार देगी, इस बारे में बजट में कोई जिक्र नहीं था। बजट में रोजगार के आंकड़े नहीं बताने पीछे वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक अखबार को दिए गए इंटरव्यू में राहुल गांधी का नाम ले लिया। उन्होंने कहा कि अगर आकंड़े बताती तो वह सवाल पूछते। वित्त मंत्री के इस बयान पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पलटवार किया है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, “वित्त मंत्री जी, मेरे सवालों से मत डरिए। मैं ये सवाल देश के युवाओं की ओर से पूछ रहा हूं, जिनके जवाब देना आपकी जिम्मेदारी है। देश के युवाओं को रोजगार की जरूरत है और आपकी सरकार उन्हें रोजगार देने में बुरी तरह नाकाम साबित हुई है।”

दरअसल एक अखबार को दिए गए इंटरव्यू में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि रोजगार के आकंड़े हमारी ओर से इसलिए नहीं बताए गए, क्योंकि राहुल गांधी फिर पूछेंगे कि एक करोड़ रोजगार का क्या हुआ? राहुल गांधी ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के इसी बयान पर पलटवार किया है।

वहीं, कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, “आंकड़ों से वित्त मंत्री जी का भय वाजिब है। निर्मला जी, राहुल जी के सवाल पूछने के डर से आपने आँकड़े बताने ही छोड़ दिए? हकीकत ये है कि आपके पास उपलब्धियों के नाम पर केवल लफ्फाजी है। आंकड़ों से डर नहीं लगता, साहेब! सच्चाई से डर लगता है। क्यों निर्मला जी?”

गौरतलब है कि लोकसभा में शनिवार को बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दावा किया था कि इस बजट से देश के युवाओं को रोजगार मिलेगा। हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि उनकी सरकार युवाओं को कुल कितना रोजगार देगी। 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने देश की जनता से वादा किया था कि अगर वह सत्ता में आई तो हर साल वह दो करोड़ रोजगार देगी। केंद्र की मोदी सरकार अपने वादे पर खरा नहीं उतरी। उल्टे लाखों युवाओं की नौकरियां चली गई है। यही वजह है कि अब बीजेपी और मोदी सरकार फूंक-फूंकर कदम रख रही है। आंकड़ो में कोई वादे नहीं कर रही है।

Published: 3 Feb 2020, 1:29 PM
लोकप्रिय
next