देश में बाढ़ के विकराल रूप से हालात बेकाबू, राहुल गांधी ने जताई चिंता, बोले- कांग्रेस कार्यकर्ता लोगों की करें मदद

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि असम, बिहार, उतर प्रदेश, त्रिपुरा और मिजोरम में बाढ़ से हालात बेकाबू हो गए हैं। जन-जीवन बुरी तरह प्रभावित हो गया है। मैं इन सभी राज्यों के कांग्रेस कार्यकर्ताओं से अपील करता हूं वे आम लोगों के राहत और बचाव कार्य में तत्काल जुटें।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

भारी बारिश की वजह से असम और बिहार के कई जिले डूब गए हैं। हालात इतना भयावह है कि 30 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। करीब 50 लाख लोग इससे प्रभावित हुए हैं। इस बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने कार्यकर्ताओं से राहत और बचाव कार्य में जुटने की अपील की है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, “असम, बिहार, उतर प्रदेश, त्रिपुरा और मिजोरम में बाढ़ से हालात बेकाबू हो गए हैं। जन-जीवन बुरी तरह प्रभावित हो गया है। मैं इन सभी राज्यों के कांग्रेस कार्यकर्ताओं से अपील करता हूं वे आम लोगों के राहत और बचाव कार्य में तत्काल जुटें।”

बिहार में बाढ़ से हालात

बिहार में बाढ़ का कहर लगातार जारी है। इसकी वजह से अब तक बिहार में 20 से ज्यादा लोगों की मौत की खबर है।बिहार के 12 जिले बाढ़ से प्रभावित हैं जबकि 19 लाख से ज्यादा लोग इसकी वजह से घर छोड़कर जहां-तहां शरण लिए हुए हैं।

बिहार के जिन इलाकों में बाढ़ का सबसे ज्यादा असर है, उनमें अररिया, किशनगंज, सुपौल, दरभंगा, शिवहर, सीतामढ़ी, पूर्वी चंपारण, मधुबनी, मुजफ्फरपुर जिला शामिल हैं। अधिकारिक रिपोर्ट के मुताबिक राज्य के 55 प्रखंड के 352 पंचायत के 18 लाख से ज्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं।

असम में बाढ़ के चलते रेड अलर्ट

असम सरकार ने सोमवार को राज्य में भीषण बाढ़ के चलते रेड अलर्ट जारी कर दिया है। असम के 33 में से 30 जिलों के करीब 43 लाख लोग बाढ़ से जूझ रहे हैं। पिछले दो दिन में राज्य में 15 लोगों की मौत हो चुकी है।

त्रिपुरा और मिजोरम में हालात खराब

त्रिपुरा और मिजोरम के निचले इलाकों और गांवों में बारिश के कारण आई बाढ़ से प्रभावित 15,000 से ज्यादा लोगों को राहत शिविरों और अन्य सुरक्षित स्थानों पर भेज दिया गया है। बारिश और भूस्खलन के कारण त्रिपुरा और मिजोरम का देश के बाकी हिस्से से रेल मार्ग से संपर्क टूट गया है।

Published: 16 Jul 2019, 11:40 AM
लोकप्रिय