मणिपुर के मोरेह में उग्रवादियों के हमले में 5 पुलिस कमांडो और 1 BSF जवान घायल

पुलिस कमांडो और बीएसएफ जवान जब संयुक्त रूप से उग्रवादियों को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान चला रहे थे, तभी उन्होंने अत्याधुनिक हथियारों से सुरक्षाबलों पर फायरिंग कर दी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

टेंग्नौपाल जिले के सीमावर्ती मोरेह में मंगलवार को संदिग्ध कुकी उग्रवादियों के हमले में मणिपुर पुलिस के पांच कमांडो और एक बीएसएफ जवान घायल हो गए।

इंफाल में पुलिस अधिकारियों ने कहा, ''संदिग्ध कुकी उग्रवादियों ने पुलिस कमांडो और सीमा सुरक्षा कर्मियों को ले जा रहे वाहनों को निशाना बनाया। इस हमले में पांच पुलिस कमांडो और एक बीएसएफ राइफलमैन घायल हो गए। उन पर तब हमला किया गया जब वह म्यांमार के करीब सीमावर्ती शहर मोरेह के रास्ते में थे।''

पुलिस कमांडो और बीएसएफ जवान जब संयुक्त रूप से उग्रवादियों को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान चला रहे थे, तभी उन्होंने अत्याधुनिक हथियारों से सुरक्षाबलों पर फायरिंग कर दी। सभी घायल सुरक्षाकर्मियों को बेहतर इलाज के लिए हवाई मार्ग से इंफाल ले जाया गया।

मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह ने हमले की निंदा की है। सीएम ने उन अस्पतालों का भी दौरा किया जहां घायल सुरक्षाकर्मियों का इलाज चल रहा है। मंगलवार की इस घटना के साथ ही शनिवार से उसी टेंग्नौपाल जिले में चरमपंथी हमलों की अलग-अलग घटनाओं में 11 सुरक्षाकर्मी घायल हो गए हैं।


सोमवार शाम को एक अलग घटना में थौबल जिले के लिलोंग चिंगजाओ में हथियारों से लैस हमलावरों ने चार लोगों की हत्या कर दी थी और 14 अन्य घायल हो गए थे।

पुलिस की वर्दी पहने हथियारबंद हमलावर चार वाहनों में आए थे। उन्होंने लोगों से जबरन पैसे वसूलने को लेकर झगड़े के बाद अत्याधुनिक हथियारों से फायरिंग की थी। अभी तक हत्यारों की पहचान नहीं हो पाई है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;