सोनिया गांधी ने किसान मुद्दे पर कांग्रेस नेताओं के साथ की बैठक, वर्तमान हालत पर हुई अहम चर्चा

इस बैठक में सोनिया गांधी, कांग्रेस महासचिव के.सी.वेणुगोपाल के अलावा, उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत, प्रियंका गांधी, जितिन प्रसाद, पवन बंसल, राजीव शुक्ला, तारिक अनवर, भक्त चरण दास, अजय माकन, पी.एल.पुनिया, राजीव सातवाल और मनिकम टैगोर समेत कई नेता शामिल हुए।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

केंद्र सरकार के विवादित तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले डेढ़ माह से भी ज्यादा समय से दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे किसानों और सरकार के बीच शुक्रवार को आठवें दौर की भी वार्ता विफल होने के बाद कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शनिवार को पार्टी के सभी महासचिवों और प्रभारियों के साथ एक वर्चुअल बैठक की। इस बैठक में मौजूदा राजनीतिक परिदृश्य और किसानों के मुद्दे पर गंभीर चर्चा हुई।

इस बैठक में सोनिया गांधी, कांग्रेस महासचिव (संगठन) के.सी.वेणुगोपाल के अलावा, उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, राजीव सातवाल, मनिकम टैगोर, तारिक अनवर, प्रियंका गांधी वाड्रा, जितिन प्रसाद, पवन बंसल, राजीव शुक्ला, भक्त चरण दास, अजय माकन, पी.एल.पुनिया समेत कई अन्य नेता शामिल हुए।

इससे पहले शुक्रवार को प्रियंका गांधी पार्टी के सांसदों और विधायकों के साथ पिछले 32 दिनों से तीन कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे उनके विरोध में शामिल हुईं थीं। प्रियंका ने कहा था कि वे कांग्रेस किसान संघों की मांग का पूरे दिल से समर्थन करती हैं। उन्होंने आगे कहा कि हम पीछे नहीं हटेंगे, इस गतिरोध का एकमात्र समाधान यह है कि सरकार को तीनों कृषि कानूनों को निरस्त कर देना चाहिए।

बता दें कि विवादित कृषि कानूनों के निरस्त करने की मांग कर रहे हजारों किसान पिछले 46 दिनों से दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे हैं। गतिरोध को तोड़ने के लिए किसान संगठनों और सरकार के बीच अब तक आठ दौर की बातचीत हो चुकी है, जिसमें कोई हल नहीं निकल सका है। इस बीच शुक्रवार को हु आठवें दौर की बातचीत भी बेनतीजा रही, जिसके बाद सरकार ने अगले दौर की बैठक के लिए 15 जनवरी की तारीख तय की है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;