जोहान्सबर्ग में दक्षिण अफ्रीका ने पहली बार भारत को हराया, स्कोर चेज में रचा इतिहास, टेस्ट सीरीज 1-1 से बराबर

बारिश के कारण देर से शुरू हुए चौथे दिन के खेल में दक्षिण अफ्रीका शुरुआत से ही हावी रहा। उनके बल्लेबाज कप्तान एल्गर और डूसन ने भारतीय गेंदबाजों की परीक्षा ली, क्योंकि दोनों ने संभलकर खेला और टीम के लिए तेज गति से रन बनाए।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कप्तान डीन एल्गर की शानदार 96 रन की नाबाद पारी की बदौलत वांडर्स में खेले गए दूसरे टेस्ट में गुरुवार को दक्षिण अफ्रीका ने भारत को 7 विकेट से हरा दिया। इसी के साथ तीन मैचों की टेस्ट सीरीज 1-1 से बराबर हो गई है। वहीं, भारत को पहली बार जोहान्सबर्ग में हार का मुंह देखना पड़ा। अफ्रीकी कप्तान डीन एल्गर और रस्सी वैन डेर डूसन ने 160 गेंदों पर 82 रनों की शानदार साझेदारी ने टीम की जीत में मदद की।

बारिश के कारण देर से शुरू हुए चौथे दिन के खेल में दक्षिण अफ्रीका शुरुआत से ही हावी रहा। उनके बल्लेबाज कप्तान एल्गर और डूसन ने भारतीय गेंदबाजों की परीक्षा ली, क्योंकि दोनों ने संभलकर खेला और टीम के लिए तेज गति से रन बनाए। इस दौरान दोनों भारतीय गेंदबाजों की अच्छी गेंदों पर भी चौका मारते नजर आए और कप्तान एल्गर ने अपना अर्धशतक भी पूरा कर लिया। दक्षिण अफ्रीका ने जीत के लिए भारत से मिले 240 रन का लक्ष्य आसानी से हासिल कर लिया। इतना बड़ा टारगेट इससे पहले इस मैदान पर अफ्रीका टीम ने कभी हासिल नहीं किया था, लेकिन इस बार इतिहास रच दिया है।


इस बीच, कप्तान एल्गर और डूसन के बीच 160 गेंदों में 82 रनों की होती लंबी साझेदारी को 53वें ओवर में मोहम्मद शमी ने तोड़ा, जब डूसन (40) रन बनाकर पुजारा को कैच थमा बैठे। इसके बाद, पांचवें स्थान पर आए टेम्बा बावुमा ने कप्तान एल्गर के साथ मिलकर पारी को आगे बढ़ाया। यहां टीम को अभी भी जीतने के लिए 60 रनों की जरूरत थी, तो वहीं भारत को सीरीज में अजेय बढ़त बनाने के लिए 7 विकेट चाहिए थे।

इस दौरान, शार्दुल ठाकुर ने अपने ही ओवर में बावुमा का कैच छोड़ दिया था। इसके बाद फॉर्म में चल रहे बावुमा ने कई शानदार शॉर्ट खेले। वहीं कप्तान एल्गर लक्ष्य को तेजी से पूरा करते नजर आए, जिसके बाद दक्षिण अफ्रीका टीम ने 67.4 ओवरों में तीन विकेट खोकर 243 रन बनाकर लक्ष्य को पूरा कर लिया। वहीं, कप्तान एल्गर (96) और बावुमा (23) रन बनाकर नाबाद रहे। दोनों ने मैच जिताऊ 83 गेंदों में 68 रनों की साझेदारी की।


इससे पहले, भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 240 रनों का लक्ष्य दिया था। टीम को शार्दुल ठाकुर (28) और हनुमा विहारी (नाबाद 40) के साथ चेतेश्वर पुजारा (53) और अजिंक्य रहाणे (58) के बीच 144 गेंदों पर 111 रनों की साझेदारी के बाद 240 की बढ़त मिली थी। मेजबान टीम की ओर से कगिसो रबाडा, मार्को जेनसेन और लुंगी एनगिडी ने तीन-तीन विकेट लिए।

वहीं, वांडर्स में लगातार बारिश ने गुरुवार को दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच दूसरे टेस्ट के चौथे दिन का पहला सत्र बर्बाद कर दिया। जोहान्सबर्ग में सुबह से बारिश हो रही है, जिसके कारण पिच को कवर करके रखा गया था। इस कारण चौथे दिन के शुरूआती सत्र में एक भी गेंद नहीं फेंके जाने के बाद लंच की घोषणा कर दी गई थी।

इसी के साथ तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में दक्षिण अफ्रीका ने यह मैच जीतकर सीरीज को 1-1 से बराबर कर दी। अब अगला और अंतिम मैच 11 जनवरी को केपटाउन में खेला जाएगा।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia