दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे पर 120 की रफ्तार से दौड़ सकेंगे वाहन, एनएचएआई बढ़ाएगा स्पीड लिमिट

अगर आप दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का इस्तेमाल करते हैं तो यह खबर आपके लिए है। इस एक्सप्रेस वे पर जल्द ही आप 100 से 120 किलोमीटर की रफ्तार से फर्राटा भर सकते हैं और आपका चालान नहीं कटेगा। इस बारे में एनएचएआई दिल्ली पुलिस को पत्र भेजने वाला है।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

दिल्ली के सराय काले खां से शुरु होने वाले दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे पर आने जाने वालों के लिए राहत की खबर हो सकती है यह। अभी तक इस एक्सप्रेस वे पर चलने वाले वाहन चालकों को जरा सी गति बढ़ाने पर चालान का सामना करना पड़ रहा था। अब जल्द ही इस एक्सप्रेस वे पर गति सीमा बढ़ाई जाने वाली है। इसे मौजूदा हल्के वाहनों के लिए 70 और भारी वाहनों के लिए 50 किलोमीटर प्रति घंटा से बढ़ाकर 120 और 100 किलोमीटर किया जा सकता है। इस सिलसिले में नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया दिल्ली पुलिस को जल्द ही पत्र भेजेगी।

न्यूज एजेंसी की खबर के मुताबिक इस एक्सप्रेस वे पर अक्सर वाहन चालकों को 60 किलोमीटर प्रति घंटा से आगे बढ़ते ही चालान कट रहा है। दिल्ली पुलिस उन सभी वाहन चालकों का चालान काट रही है जिनकी गति सीमा 60 किलोमीटर प्रति घंटा से अधिक होती है। इसके लिए एक्सप्रेस वे पर लगे कैमरे और गति सीमा मापने वाले यंत्रों का इस्तेमाल किया जा रहा है। चालान काटकर पुलिस अपनी वेबसाइट पर फोटो सहति चालान की प्रति अपलोड कर देती है। गति सीमा का उल्लंघन करने पर 400 रुपए का जुर्माना भरना होता है।

वैसे तो नए मोटर वाहन कानून में जुर्माने की राशि बढ़ा कर 5000 कर दी गई है, लेकिन दिल्ली में अभी इस कानून को लागू नहीं किया गया है, इसलिए जुर्माना सिर्फ 400 रुपए ही देना होता है।

वैसे तो अभी तक दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे का निर्माण पूरा नहीं हुआ है, लेकिन कुछ हिस्सों को खोला जा चुका है। सबसे पहले चरण में सराय काले खां से दिल्ली बॉर्डर तक के 9 किलोमीटर के हिस्से को खोला गया था, जिसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था। इसी 9 किलोमीटर के हिस्से में पुलिस ने कैमरे और गति सीमा मापने वाले यंत्र लगाए हैं और लोगों के चालान हो रहे हैं।

इस हिस्से पर गति सीमा को लेकर पूर्वी दिल्ली के कल्याणपुरी सर्किल के ट्रैफिक इंस्पेक्टर ने सिंतबंर माह में एनएचएआई को एक पत्र लिखकर गति सीमा 60 किलोमीटर प्रति घंटे वाले साइन बोर्ड लगाने की मांग की थी। जिसके जवाब में एनएचएआई ने दिल्ली पुलिस को 13 सितंबर को पत्र लिखकर गति सीमा को 120 किमी और 100 किमी करने के लिए कहा था।

एजेंसी के मुताबिक एनएचएआई की गाजियाबाद प्रोजेक्ट यूनिट के डायरेक्टर और जनरल मैनेजर आरपी सिंह ने कहा है कि दिल्ली पुलिस कमिश्नर को इस बारे में जल्द पत्र भेजा जाएगा, जिसमें एक्सप्रेस - वे के हिस्से की गति सीमा 70/50 किमी प्रति घंटा से बढ़ाकर 120/100 किमी प्रति घंटा करने का सुझाव दिया जाएगा। इससे पहले भेजे गए पत्र में एनएचएआई ने कहा था कि दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे 120/100 किलोमीटर घंटा की रफ्तार से चलने के लिहाज से तैयार किया गया है।

लोकप्रिय