मध्यप्रदेश के शिवपुरी में अंबेडकर की प्रतिमा तोड़ी गई, कांग्रेस ने की निंदा, कहा- फिर से हो स्थापना

बीएसपी ने भी इस घटना की निंदा की है। बीएसपी के शिवपुरी जिलाध्यक्ष ने सीसीटीवी के आधार पर आरोपियों की पहचान कर सख्त कार्रवाई की मांग की है। साथ ही कहा कि प्रतिमा की स्थापना जल्दी नहीं की गई तो इसके लिए बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले में गुरुवार को अज्ञात लोगों ने बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त कर दिया। इस मामले के सामने आने के बाद पुलिस अज्ञात लोगों को तलाश रही है। वहीं संविधान निर्माता डॉ अंबेडकर की प्रतिमा तोड़े जाने की घटना की कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने कड़ी निंदा की है और कार्रवाई की मांग की है।

मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को शिवपुरी जिले के पिछोर तहसील मुख्यालय के बस स्टैंड पर लगी डॉ.भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा का हाथ किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा क्षतिग्रस्त करने की घटना सामने आई, जिसके बाद वहां अफरातफरी मच गई। आनन-फानन में मूर्ति का हाथ तोड़े जाने की सूचना पुलिस को दी गई। जिस पर पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

नगर पुलिस निरीक्षक अजय भार्गव ने बताया कि सीसीटीवी कैमरे में बुधवार रात लगभग पौने ग्यारह बजे मुंह पर कपड़ा बांधे एक अज्ञात युवक पत्थर से प्रतिमा का हाथ तोड़ते हुए दिखाई दे रहा है। पुलिस आरोपी की तलाश करने के साथ ही मामले की जांच कर रही है।

वहीं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने डॉ. अंबेडकर की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त किए जाने की घटना पर कहा कि जब से प्रदेश में शिवराज सरकार आयी है, प्रदेश में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वर्ग के उत्पीड़न की घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है। अब पिछोर नगर में हुई यह घटना बेहद निंदनीय है। ऐसे कृत्य के जरिए क्षेत्र का माहौल खराब करने का प्रयास किया जा रहा है।

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आगे कहा, "मैं सरकार से मांग करता हूं कि तत्काल इसके दोषियों को चिन्हित कर उन पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई हो। बाबा साहेब की प्रतिमा को वापस पुराने स्वरूप में ससम्मान स्थापित किया जाए और प्रतिमा की सुरक्षा के सभी इंतजाम किये जाएं।"

वहीं, बीएसपी ने भी इस घटना की निंदा की है। बीएसपी के जिलाध्यक्ष धनीराम चैधरी ने पिछोर के अनुविभागीय अधिकारी को ज्ञापन सौंप कर दोषियों पर सख्त कार्रवाई की मांग की है। सीसीटीवी के आधार पर आरोपियों की पहचान कर सख्त कार्रवाई की मांग की। प्रतिमा की स्थापना जल्दी नहीं की गई तो आंदोलन किए जाने की चेतावनी भी दी गई है।

लोकप्रिय
next