सेना में साइबर सुरक्षा उल्लंघन की सूचना से हड़कंप, खुफिया एजेंसियों के अलर्ट पर उच्च स्तरीय जांच के आदेश

सूत्रों ने कहा कि संवेदनशील उल्लंघन 'व्हाट्सएप ग्रुप्स' के जरिये किए गए हैं और कुछ सैन्य अफसरों के भी पड़ोसी देशों की जासूसी गतिविधियों में शामिल होने का संदेह है। अधिकारियों ने कहा कि जांच में दोषी पाए गए सभी अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

खुफिया एजेंसियों ने भारतीय सेना में साइबर सुरक्षा उल्लंघन की सूचना दी है, जिसके बाद इसकी उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए गए हैं। सूत्रों ने मंगलवार को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि इस उल्लंघन में शामिल कुछ सैन्य अधिकारियों के दुश्मन देशों से संबंध होने की आशंका है।

सूत्रों ने यह भी कहा कि संवेदनशील उल्लंघन 'व्हाट्सएप ग्रुप्स' के माध्यम से किए गए हैं और सैन्य अधिकारियों के भी पड़ोसी देशों की जासूसी संबंधी गतिविधियों में शामिल होने का संदेह है। सूत्रों ने यह भी पुष्टि की है कि मामले की है कि मामले में उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं।


सूत्रों ने सैन्य अधिकारियों के हवाले से कहा, "मौजूदा आदेशों के उल्लंघन के कृत्यों, विशेष रूप से सैन्य अधिकारियों द्वारा प्रति-खुफिया मामलों को इसमें शामिल करते हुए इनसे सख्त संभव तरीके से निपटा जाता है क्योंकि ऐसे मामले आधिकारिक गोपनीयता अधिनियम के अधीन हैं।"
अधिकारियों ने आश्वासन दिया कि जारी जांच में दोषी पाए गए सभी अधिकारियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

इस संदिग्ध जासूसी मामले पर अधिक जानकारी साझा करने में असमर्थता व्यक्त करते हुए, रक्षा प्रतिष्ठान के अधिकारियों ने कहा कि जांच की संवेदनशील प्रकृति के कारण हम चल रही जांच पर या इस मामले में शामिल लोगों पर अटकलों से बचना चाहते हैं। इससे चल रही जांच में बाधा आ सकती है।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia