गोगामेड़ी हत्याकांड में चौंकाने वाला खुलासा! एक 'हसीना', जिसने मुख्य शूटर को अपने घर हफ्तेभर परोसा खाना और फिर...

गोगामेड़ी हत्याकांड में पुलिस ने एक महिला को भी गिरफ्तार किया। महिला की गिरफ्तारी के बाद कई अहम जानकारी सामने आई है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड में हर दिन नए-नए खुलासे हो रहे हैं। हत्या के आरोप में गिरफ्तार तीन आरोपियों से जयपुर पुलिस लगातार पूछताछ कर रही है। पुलिस की पूछताछ में कई अहम खुलासे हुए हैं। तीनों कैदी, संदीप उर्फ सुमित, भवानी सिंह उर्फ रोनी और राहुल लॉरेंस बिश्नोई गैंग के सदस्य बताए गए हैं। जांच में यह बात सामने आई है कि तीनों आरोपी गोगामेड़ी की हत्या के मुख्य शूटर नितिन फौजी के संपर्क में थे।

भोंडसी जेल के उपाधीक्षक चरण सिंह ने बताया कि जयपुर पुलिस तीनों कैदियों का पेशी वारंट लेकर जेल पहुंची और उन्हें सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड मामले में पूछताछ के लिए जयपुर ले गई। उन्होंने बताया कि दो कैदी महेंद्रगढ़ में दर्ज हत्या की कोशिश के एक मामले में नितिन फौजी के साथ शामिल थे।

हत्याकांड में एक महिला की अहम गिरफ्तारी

गोगामेड़ी हत्याकांड में पुलिस ने एक महिला को भी सोमवार को गिरफ्तार किया। महिला की गिरफ्तारी के बाद कई अहम जानकारी सामने आई है। हत्याकांड की कड़िया जुड़ती चली जा रही हैं। जयपुर के पुलिस आयुक्त बीजू जॉर्ज जोसेफ के मुताबिक, गोगामेड़ी की 5 दिसंबर को हत्या से पहले करीब एक हफ्ते तक शूटर नितिन फौजी को अपने घर में रखने वाली पूजा सैनी को अरेस्ट किया गया है। पुलिस आयुक्त ने बताया कि पूजा सैनी अपने पति के साथ जयपुर के जगतपुरा में किराए मकान में पूजा बत्रा के नाम से रह रही थी। पूजा सैनी का पति महेन्द्र कुमार मेघवाल ऊर्फ समीर फिलहाल फरार है। पूजा सैनी और उसका पति महेंद्र शूटर नितिन फौजी के लिए हथियार तस्करी किया करते थे। महेंद्र कुमार मेघवाल कोटा का हिस्ट्रीशीटर है और फिलहाल वह फरार है।


मुख्य शूटर एक हफ्ते तक एक फ्लैट में ठहरा

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (प्रथम) कैलाश चंद्र बिश्नोई ने मुख्य शूटर नितिन फौजी को लेकर अहम खुलासा किया है। उन्होंने बताया कि 28 नवंबर को नितिन फौजी कैब से जयपुर आया और महेंद्र मेघवाल से मुलाकात की। मेघवाल निति फोजी को अपने साथ जगतपुरा स्थित अपने किराए के मकान में ले गया, जहां वह एक हफ्ते तक रहा। नितिन फौजी महेंद्र मेघवाल के जरिए गैंगस्टर रोहित गोदारा के संपर्क में था। घटना वाले दिन महेंद्र ने 6 से ज्यादा पिस्तौल और भारी मात्रा में कारतूस दिखाए, जिनमें से नितिन ने कुछ हथियार लिए। उन्होंने बताया कि मेघवाल की पत्नी पूजा नितिन को खाना बनाकर खिलाती थी।

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (प्रथम) कैलाश चंद्र बिश्नोई के मुताबिक, पांच दिंबर को गोगामेड़ी की हत्या वाले दिन सुबह महेंद्र ने नितिन को अजमेर रोड पर ले जाकर छोड़ा, जहां रोहित राठौड़ उनका पहले से इंतजार कर रहा था। हथियाबंद नितिन फौजी और रोहित राठौड़ एक कार में सवार होकर श्याम नगर स्थित गोगामेड़ी के आवास पर पहुंचे। दोनों शूटर गोगामेड़ी के परिचित नवीन के माध्यम से गोगामेड़ी के घर पहुंचे।

5 दिसंबर को हुई थी गोगामेड़ी की हत्या

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की 5 दिसंबर को उनके घर पहुंचकर इन शूटरों ने गोली मारकर हत्या कर दी। वारदात को अंजाम देने के बाद हत्यारे फरार हो गए थे। इसके बाद दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच और राजस्थान पुलिस के संयुक्त अभियान में शूटर रोहित राठौड़ और नितिन फौजी को चंडीगढ़ से गिरफ्तार किया गया था।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 12 Dec 2023, 9:08 AM
;