राफेल मामला: पुनर्विचार याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी, फैसला सुरक्षित

राफेल लड़ाकू विमान मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में ‘रिव्यू पिटिशन’ पर सुनवाई पूरी हो गयी। कोर्ट इस मामले में फैसला बाद में सुनायेगा। बता दें कि दिसंबर 2018 में सुप्रीम कोर्ट ने राफेल मामले में फैसला सुनाया था और केंद्र सरकार को क्लीन चिट दे दिया था, जिस पर रिव्यू पिटिशन दाखिल किया गया था।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

राफेल डील में कथित घोटाले को लेकर दाखिल की गई पुनर्विचार याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई पूरी हो गई है। कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है जिस पर का निर्णय बाद में लिया जाएगा।

पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता प्रशांत भूषण ने कहा, “केंद्र ने कोर्ट से डील से जुड़ी कई महत्वपूर्ण जानकारियां छिपाईं, ऐसे में कोर्ट ने पिछला फैसला गलत और अधूरी जानकारी पर आधारित था। हम चाहते हैं कि सीबीआई राफेल डील को लेकर जांच करे। हम राफेल सौदो को रद्द नहीं करना चाहते। सुप्रीम कोर्ट ने उनकी जांच की मांग पर सुनवाई नहीं की, बल्कि इस आधार पर सुनवाई की कि हम सौदा रद्द कराना चाहते हैं।” इस दौरान प्रशांत भूषण ने राफेल डील में प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा की जाने वाली समानांतर बातचीत पर भी सवाल उठाया।

राफेल पर सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता अरुण शौरी ने कहा कि सरकार कोर्ट को गुमराह किया है। उन्होंने कहा कि सरकार कहती है कि सीएजी को सभी कागजात दिए गए तो वही कागजात कोर्ट को क्यों नहीं दिए गए? शौरी ने कहा कि कोर्ट ने सरकार पर भरोसा किया और सरकार ने इसका दुरुपयोग किया।

वहीं एटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने सु्प्रीम कोर्ट में कहा कि याचिकाकर्ता चोरी के दस्तावेजों को चुनिंदा हिस्सों को कोर्ट में रख रहे हैं और इसके पीछे कोर्ट को गुमराह करने की नीयत है।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने राफेल डील पर सरकार को क्लीन चिट देते हुए इस डील की जांच के आदेश देने से इनकार कर दिया था। जिसके बाद यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी और प्रशांत भूषण ने इस फैसले पर पुनर्विचार याचिका दाखिल की थी। याचिकाकर्ताओं ने भी सुप्रीम कोर्ट में अपना जवाब दाखिल कर सीएजी की रिपोर्ट पर सवाल उठाया है।

लोकप्रिय