भ्रष्टाचार पर घिरी कर्नाटक सरकार कांग्रेस के विरोध से घबराई, सुरजेवाला, शिवकुमार, सिद्धारमैया समेत 32 के खिलाफ केस

डी के शिवकुमार ने कहा कि हमें सीएम आवास के रास्ते में गिरफ्तार कर बाद में रिहा कर दिया। अब उन्होंने एक केस दर्ज किया है। पूर्व मंत्री ईश्वरप्पा ने विरोध मार्च निकालने और प्रदर्शन करने के लिए निषेधाज्ञा का उल्लंघन किया। उन पर कोई मामला क्यों नहीं दर्ज हुआ?

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कर्नाटक में भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरी बीजेपी सरकार ने कांग्रेस के विरोध-प्रदर्शनों के खिलाफ पार्टी महासचिव रणदीप सुरजेवाला, प्रदेश अध्यक्ष डीके शिवकुमार और नेता विपक्ष सिद्धारमैया के खिलाफ सीएम बोम्मई के आवास की घेराबंदी करने के लिए अवैध रूप से इकट्ठा होने के आरोप में एफआईआर दर्ज की है।

कर्नाटक पुलिस ने सोमवार को इस कार्रवाई की जानकारी दी। कांग्रेस ने 13 अप्रैल को सीएम बोम्मई के आवास की घेराबंदी करने के लिए कार्यक्रम आयोजित किया था, हालांकि कांग्रेस नेताओं को बीच में ही रोक दिया गया था। उन्हें गिरफ्तार करके बाद में छोड़ दिया गया था।


एक ठेकेदार की आत्महत्या मामले में फंसे बीजेपी सरकार के पूर्व मंत्री के.एस. ईश्वरप्पा की तुरंत गिरफ्तारी की मांग को लेकर कांग्रेस ने सीएम आवास की घेराबंदी करने का ऐलान किया । ठेकेदार संतोष पाटिल ने ईश्वरप्पा को अपनी मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया था।

डी के शिवकुमार ने कहा, "पुलिस ने हमें सीएम बोम्मई के आवास के रास्ते में गिरफ्तार किया और बाद में रिहा कर दिया। अब उन्होंने एक प्राथमिकी दर्ज की है। पूर्व मंत्री ईश्वरप्पा ने विरोध मार्च निकालने और विरोध प्रदर्शन करने के लिए निषेधाज्ञा का उल्लंघन किया। उन पर कोई मामला क्यों नहीं दर्ज किया गया है?"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia