लोकसभा से अधीर रंजन का निलंबन होगा खत्म, पक्ष सुनने के बाद विशेषाधिकार समिति ने स्पीकर से की सिफारिश

संसद के मानसून सत्र में मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव पर लोकसभा में चर्चा के दौरान पीएम मोदी के बारे में कथित तौर पर अपशब्दों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए 10 अगस्त को कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी को सदन से निलंबित कर दिया गया था।

लोकसभा की विशेषाधिकार समिति ने अधीर रंजन का निलंबन खत्म करने की सिफारिश की
लोकसभा की विशेषाधिकार समिति ने अधीर रंजन का निलंबन खत्म करने की सिफारिश की
user

नवजीवन डेस्क

लोकसभा की विशेषाधिकार समिति ने कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी द्वारा सदन में दिए गए अपने भाषण पर आज समिति के सामने अपना पक्ष रखने के बाद लोकसभा स्पीकर ओम बिरला से उनका निलंबन रद्द करने की सिफारिश कर दी है। इससे पहले बुधवार को संसद की विशेषाधिकार समिति के सामने पेश होकर लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने सदन में अपने भाषण पर अपना पक्ष रखते हुए कहा कि उनका मकसद किसी की भी भावना को आहत करने का नहीं था।

सूत्रों के मुताबिक, समिति के सामने पेश होकर अधीर रंजन चौधरी ने अपनी सफाई देते हुए कहा कि उनका मकसद किसी की भी भावना को आहत करने का नहीं था। सूत्रों की मानें तो लोकसभा की विशेषाधिकार समिति की बैठक में मौजूद सत्ता पक्ष और विपक्ष के सभी सांसद कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी की सफाई से संतुष्ट नजर आए और इसके बाद समिति ने औपचारिक तौर पर स्पीकर ओम बिरला से निलंबन रद्द करने की सिफारिश की है।


अधीर रंजन चौधरी के निलंबन के मसले पर लोकसभा की विशेषाधिकार समिति ने इसी महीने 18 अगस्त को अपनी पहली बैठक में अधीर रंजन चौधरी को अपने ऊपर लगे आरोपों पर अपना पक्ष रखने का मौका देने का फैसला किया था और इसके लिए समिति ने उन्हें 30 अगस्त को समिति की बैठक में आकर अपना पक्ष रखने को कहा था।

दरअसल, संसद के मानसून सत्र में मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव पर लोकसभा में चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में कथित तौर पर अपशब्दों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए 10 अगस्त को सदन में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी को सदन से निलंबित करते हुए उनके मामले को सदन की विशेषाधिकार समिति को भेज दिया गया था।

केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी द्वारा 10 अगस्त को ही लोकसभा में पेश किए गए प्रस्ताव को सदन द्वारा स्वीकार किए जाने के बाद स्पीकर ओम बिरला ने उसी दिन अधीर रंजन चौधरी द्वारा सदन में लगातार किए जा रहे व्यवहार की जांच का मामला सदन की विशेषाधिकार समिति को भेजते हुए समिति की रिपोर्ट आने तक उन्हें सदन से निलंबित करने की घोषणा कर दी थी। बीजेपी सांसद सुनील कुमार सिंह लोकसभा की विशेषाधिकार समिति के अध्यक्ष हैं और इसमें सत्ता पक्ष और विपक्ष के कई सांसद सदस्य के तौर पर शामिल हैं।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


/* */