तालिबान का दावा: पंजशीर पर कब्जे के बाद पूर्व उपराष्ट्रपति सालेह के घर से 60 लाख डॉलर और सोने की 15 ईंटें जब्त कीं

अफगानिस्तान पर काबिज तालिबान ने पंजशीर घाटी पर कब्जे के दावे के साथ ही एक वीडियो जारी कर कहा है कि उसने पूर्व उप राष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह के घर से करीब 60 लाख डॉलर और सोने की ईंटे बरामद की हैं। पंजशीर के विद्रोही गुट ने इस पर अभी टिप्पणी नहीं की है।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

तालिबान लड़ाकों ने एक वायरल वीडियो में दावा किया है कि उन्होंने पंजशीर प्रांत में अफगानिस्तान के पूर्व उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह के आवास से 60 लाख डॉलर नकद और सोने की करीब 15 ईंटें जब्त की हैं। खामा न्यूज ने बताया कि सालेह और प्रतिरोध मोर्चे ने अभी तक इस मुद्दे पर कोई टिप्पणी नहीं की है।

ध्यान रहे कि ताजिकिस्तान में अफगानिस्तान के राजदूत, मोहम्मद जहीर अगबर ने दावा किया था कि राष्ट्रपति अशरफ गनी अफगानिस्तान से भागते समय अपने साथ 16.9 करोड़ डॉलर ले गए थे।

उधर ओजोदी की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने कहा कि गनी को गिरफ्तार किया जाना चाहिए और अफगान राष्ट्र की संपत्ति को बहाल किया जाना चाहिए।

दुशांबे में एक संवाददाता सम्मेलन में बोलते हुए, अगबर ने गनी के पलायन को राज्य और राष्ट्र के साथ विश्वासघात करार दिया और दावा किया कि वे भागते समय अपने साथ 16.9 करोड़ डॉलर लेकर गए हैं।

इससे पहले डेली मेल ने अपनी रिपोर्ट में बताया था कि आधिकारिक रिपोर्टों की एक श्रृंखला - जिनमें से कई को पिछले सप्ताह अमेरिकी सरकार की साइटों से स्पष्ट रूप से चल रही सुरक्षा चिंताओं के कारण हटा दिया गया था - ने दिखाया है कि कैसे अफगानिस्तान में एक भ्रष्ट अभिजात वर्ग ने व्यक्तिगत लाभ के लिए सरकार चलाई, जबकि आम लोगों को अलग-थलग कर दिया गया।


रिपोर्ट में कहा गया है कि करदाताओं के पैसे की बर्बादी आश्चर्यजनक है। मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि काबुल हवाई अड्डे के माध्यम से नकदी और सोने की तस्करी की गई है।

रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिकी राजनयिक गलियारों से पता चला कि अफगान उपराष्ट्रपति ने 3.8 करोड़ पाउंड नकदी के साथ दुबई के लिए उड़ान भरी थी और ड्रग-तस्करी और भ्रष्ट अधिकारी प्रति सप्ताह 17 करोड़ पाउंड देश से बाहर स्थानांतरित कर रहे थे, जहां औसत आय मुश्किल से 430 पाउंड प्रति वर्ष थी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia