तालिबान कमांडर ने बताई काबुल हवाईअड्डे की डरावनी सच्चाई, गोलीबारी और भगदड़ में कैसे गई लोगों की जान?

तालिबान के एक कमांडर ने कहा है कि काबुल हवाईअड्डे पर विदेशी बलों की गोलीबारी और सोमवार से मची भगदड़ में कम से कम 40 लोग मारे गए हैं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

तालिबान के एक कमांडर ने कहा है कि काबुल हवाईअड्डे पर विदेशी बलों की गोलीबारी और सोमवार से मची भगदड़ में कम से कम 40 लोग मारे गए हैं। अफगान मीडिया ने कमांडर के हवाले से बताया कि लोगों को विदेश यात्रा के बारे में फर्जी अफवाहों से धोखा नहीं देना चाहिए और उन्हें हवाई अड्डे पर आने से बचना चाहिए।

तालिबान का कहना है कि वे अफगानिस्तान में स्थायी शांति और प्रगति लाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। तालिबान कमांडर मोहिबुल्लाह हेकमत ने कहा, वे विदेशियों के हवाई जहाज नहीं होने चाहिए, कल (सोमवार) हवाई अड्डे पर 30 से 40 लोग मारे गए और घायल हो गए। उन्हें अपने घरों में रहना चाहिए, उनके लिए कोई समस्या नहीं होगी।


अमेरिका और अन्य पश्चिमी देशों ने अपने नागरिकों और अफगान सहयोगियों को देश से निकालने के लिए अपनी उड़ानें फिर से शुरू कीं। वाणिज्यिक उड़ानें अभी भी बंद हैं। शहर में तालिबान शासन के दूसरे दिन मंगलवार को भी काबुल के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के आसपास अफगानों की भीड़ जमा हो रही थी।

रिपोटरें में कहा गया है कि विभिन्न उम्र के लोग, दोनों महिलाएं और पुरुष, कुछ बिना पासपोर्ट के, विमान में सवार होने और देश को खाली करने की मांग कर रहे हैं। काबुल के एक निवासी ने कहा, उन्होंने कहा कि बहुत से लोग बिना वीजा और पासपोर्ट के चले गए हैं, इसलिए हम आज रात यहां आए।


बड़ी संख्या में महिलाएं यह कहकर भागने की कोशिश कर रही हैं कि देश में विकट स्थिति उन्हें जाने के लिए मजबूर कर रही है। कंधार निवासी ने कहा, बच्चों का हाल देखिए, वे प्यासे और भूखे हैं, अल्लाह अशरफ गनी को तबाह कर दे।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 18 Aug 2021, 12:27 PM