तमिलनाडु में निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों का खर्च देगी सरकार, स्टालिन ने सीएम बनते ही खोला राहत का पिटारा

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने शुक्रवार को बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि उनकी सरकार निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के इलाज का सारा खर्च उठाएगी। इसके साथ ही उन्होंने तमिलनाडु के प्रत्येक चावल कार्ड धारक को 2,000 रु सहायता देने का ऐलान किया है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने शुक्रवार को बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि उनकी सरकार निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के इलाज का सारा खर्च उठाएगी। मुख्यमंत्री ने एक आदेश में कहा कि राज्य स्वास्थ्य बीमा योजना निजी अस्पतालों में कोविड के इलाज का खर्च वहन करेगा। स्टालिन ने सीएम पद संभालते ही एक नए विभाग 'आपके निर्वाचन क्षेत्र में मुख्यमंत्री' के गठन का आदेश भी जारी किया है। एक आईएएस अधिकारी को विभाग चलाने के लिए तैनात किया जाएगा।

इसके साथ ही सीएम स्टालिन ने एक और आदेश जारी किया, जिसमें तमिलनाडु के प्रत्येक चावल कार्ड धारकों को 2,000 रु देगी। राज्य में लगभग 2.07 करोड़ चावल कार्ड धारक हैं। एक आधिकारिक बयान में सरकार ने कहा कि मुख्यमंत्री ने 4,153.39 करोड़ रुपये के खर्च से प्रत्येक 2.07 करोड़ चावल धारकों को 2,000 रुपये देने का आदेश दिया है।


इसके अलावा स्टालिन ने सार्वजनिक क्षेत्र के 'आविन' दूध ब्रांड की कीमत में 3 रुपये प्रति लीटर की कमी करने के आदेश पर भी हस्ताक्षर किए हैं। इसके साथ ही उन्होंने साधारण टाउन बसों में महिलाओं को यात्रा करने की अनुमति देने वाला एक आदेश भी जारी किया है। बयान में कहा गया है कि सरकार परिवहन निगमों को सब्सिडी के रूप में 1,200 करोड़ रुपये का अतिरिक्त खर्च वहन करेगी।

पद की शपथ लेने के बाद स्टालिन ने अपनी मां दयालु अम्मल, अपनी सौतेली मां राजति अम्मल से मुलाकात की और अपने पिता कलइगनर करुणानिधि और डीएमके के संस्थापक नेता और पूर्व मुख्यमंत्री सीएन अन्नादुरई की समाधि पर जाकर उनका सम्मान किया। उन्होंने वीपीरी के 'पेरियार थाइडल' में समाज सुधारक ईवी रामासामी पेरियार के स्मारक पर पुष्पांजलि भी अर्पित की।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia