पीएम मोदी के खिलाफ ताल ठोकने वाले तेज बहादुर अब खट्टर के खिलाफ लड़ेंगे चुनाव, कहा- बेरोजगारी बड़ा मुद्दा

हरियाणा विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक सर्गियां जोरशोर पर है। वाराणसी लोकसभा सीट से पीएम मोदी के खिलाफ नामांकन भरने वाले तेज बहादुर यादव अब हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव 21 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा चुनावों में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे। तेज बहादुर यादव ने 2019 के लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी से नामांकन भरा था, जिसे अंतिम समय में खारिज कर दिया गया था। उन्होंने सोमवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री के खिलाफ विधानसभा का चुनाव लड़ने का ऐलान किया।

तेज बहादुर यादव रविवार को दुष्यंत चौटाला की अगुवाई वाली क्षेत्रीय दल जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) में शामिल हुए हैं। दुष्यंत ने कहा कि तेज बहादुर खट्टर के खिलाफ करनाल विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने राज्य में बेरोजगारी को एक बड़ा मुद्दा बताया।

गौरतलब है कि तेज बहादुर ने सैनिकों को दिए जा रहे भोजन की गुणवत्ता पर सवाल उठाते हुए एक वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया था। सच से पर्दा उठाने पर उन्हें बर्खास्त कर दिया गया। लोकसभा चुनाव में उन्होंने समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार के तौर पर वाराणसी संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ने की पूरी तैयारी की थी, मगर चुनाव आयोग ने उनका नामांकनपत्र खारिज कर दिया था।

हालांकि उनकी बर्खास्‍तगी की वजहों को लेकर समय से अपना जवाब दाखिल न करने को लेकर जिला निर्वाचन अधिकारी ने उनका नामांकन खारिज कर दिया था। इसके खिलाफ वे सुप्रीम कोर्ट गए थे जहां पर उनकी अर्जी खारिज हो गई थी।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia