वाराणसी: बीएसएफ से बर्खास्त तेज बहादुर ने पीएम के खिलाफ भरी हुंकार, कहा, असली-नकली चौकीदार के बीच है ये लड़ाई

वाराणसी लोकसभा सीट से पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ रहे बीएसएफ के बर्खास्त जवान तेज बहादुर ने ताल ठोंकते हुए कहा कि एक तरफ असली चौकीदार है और दूसरी तरफ एक नकली चौकीदार है। अब दोनों के बीच यह लड़ाई होगी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश की वाराणसी लोकसभा सीट से पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने का ऐलान करने वाले बीएसएफ के बर्खास्त जवान तेज बहादुर ने हुंकार भर दी है। बनारस से पीएम मोदी के खिलाफ निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ रहे तेज बहादुर ने मीडिया से बात की। उन्होंने कहा, “मैं पीएम मोदी से पूछुंगा कि आपने बहुत से वादे किए थे। उन वादों का अब तक क्या हुआ। बताइए मुझे। पीएम ने कहा था कि अर्धसैनिक बलों के जवानों को शहीद का दर्जा देंगे, उन्हें पेंशन देंगे। लेकिन कुछ नहीं हुआ”

पीएम मोदी के खिलाफ ताल ठोंकते हुए तेज बहादुर ने कहा कि एक तरफ असली चौकीदार है और दूसरी तरफ एक नकली चौकीदार है। अब दोनों के बीच यह लड़ाई होगी।

इससे पहले तेज बहादुर ने कहा था, “मैं वाराणसी से पीएम मोदी के खिलाफ निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लडूंगा। मैं भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए चुनाव लड़ना चाहता हूं। मैंने भ्रष्टाचार का मामला उठाया, लेकिन मुझे बर्खास्त कर दिया गया। मेरा पहला मकसद सुरक्षा बलों को मजबूत करना और भ्रष्टाचार खत्म करना होगा।”

गौरतलब है कि 2017 में सेना में जवानों को मिलने वाले खाने की गुणवत्ता पर सवाल उठाते हुए तेज बहादुर ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट किया था। उन्होंने वीडियो में आरोप लगाया था कि जवानों को सही खाना नहीं मिलता है और कई बार उन्हें भूखे पेट भी सोना पड़ता है। इस वीडियो के वायरल होने के बाद गृह मंत्रालय ने रिपोर्ट मांगी थी। इसके बाद तेज बहादुर को बर्खास्त कर दिया गया था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia