तेजस्वी ने LJP में टूट के लिए JDU को ठहराया जिम्मेदार, कहा- तोड़फोड़ की जगह बिहार पर ध्यान देते तो नहीं आती ये नौबत

लोजपा में टूट के लिए जदयू को जिम्मेदार बताते हुए तेजस्वी ने कहा कि लोजपा के नेता चिराग पासवान को किसके साथ रहना है, यह उन्हें तय करना है। दिल्ली से पटना लौटने के बाद तेजस्वी ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि लालू प्रसाद की सेहत स्थिर है और वे डॉक्टरों की देखरेख में हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता और बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव लंबे समय के बाद बुधवार को दिल्ली से बिहार लौटे हैं। बिहार लौटते ही उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर बेरोजगारी को लेकर निशाना साधते हुए कहा कि वे बिहार को बर्बाद करने पर तुले हुए हैं।

लोजपा में टूट के लिए जदयू को जिम्मेदार बताते हुए तेजस्वी ने कहा कि लोजपा के नेता चिराग पासवान को किसके साथ रहना है, यह उन्हें तय करना है। दिल्ली से पटना लौटने के बाद तेजस्वी ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि लालू प्रसाद की सेहत स्थिर है और वे डॉक्टरों की देखरेख में हैं।

पत्रकारों द्वारा लंबे दिनों तक बिहार से बाहर रहने के प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि कि वे एक नेता के साथ एक बेटा भी हैं, इसलिए वे दिल्ली में थे। लालू प्रसाद पर ध्यान देने की जरूरत है। उन्होंने उम्मीद जताते हुए कहा कि लालू प्रसाद जल्द ही पटना लौट सकते हैं।

उन्होंने लोजपा में टूट के संबंध में कहा कि नीतीश कुमार तिकड़म से ही मुख्यमंत्री बने हुए हैं, यह सभी को पता है।

उन्होंने कहा, '' ये लोग तोडफोड पर जितना ध्यान देते हैं, अगर वे बिहार और यहां के लोगों पर ध्यान देते तो यह नौबत ही नहीं आती।" बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता ने महंगाई को लेकर केंद्र और बिहार सरकार को आडे हाथों लेते हुए कहा कि लोग महंगाई से परेशान हैं। राज्य के 25 जिलों में पेट्रोल सेंचुरी मार चुकी है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि नीतीश कुमार बिहार को बर्बाद करने में लगे है।

उन्होंने कहा कि बिहार के लोग कोरोना, बाढ और बेरोजगारी से तबाह हैं। उन्होंने कहा कि लोजपा को जदयू ने बराबर तोड़ने की कोशिश करती रही है। चिराग पासवान के महागठबंधन में आने से संबंधित एक प्रश्न पर उन्होंने कहा कि चिराग पासवान को तय करना है कि वे किसके साथ रहेंगे। वे आरएसएस के साथ रहेंगे या संविधान के साथ, यह उनको तय करना है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia