तेलंगाना चुनाव: राहुल गांधी का BRS-BJP पर निशाना, बोले- दोनों में है गठजोड़, मोदी चाहते हैं सत्ता में बने रहें केसीआर

राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी, बीआरएस और एमआईएम एक साथ हैं और कांग्रेस इन सभी से लड़ रही है। उन्होंने दावा किया कि बीआरएस ने जीएसटी, नोटबंदी और कृषि बिलों पर मोदी सरकार का समर्थन किया।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

तेलंगाना के संगारेड्डी जिले के एंडोले में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने चंद्रशेकर राव और पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा। राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहते हैं कि के. चंद्रशेखर राव तेलंगाना में सत्ता में बने रहें। बीआरएस और बीजेपी के बीच छुपी साझेदारी का आरोप लगाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस का पहला लक्ष्य तेलंगाना में केसीआर को हराना है और फिर केंद्र से मोदी सरकार को हटाना है।

राहुल गांधी पार्टी उम्मीदवार पूर्व उपमुख्यमंत्री दामोदर राजनरसिम्हा के लिए प्रचार करने के लिए संगारेड्डी जिले के एंडोले में एक चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे। कांग्रेस सांसद ने आरोप लगाया कि बीजेपी, बीआरएस और एमआईएम एक साथ हैं और कांग्रेस इन सभी से लड़ रही है। उन्होंने दावा किया कि बीआरएस ने जीएसटी, नोटबंदी और कृषि बिलों पर मोदी सरकार का समर्थन किया।

उन्होंने कहा, ''चूंकि मैं हर दिन बीजेपी से लड़ता हूं, मेरे खिलाफ 24 मामले हैं लेकिन केसीआर के खिलाफ ईडी, सीबीआई या आईटी का एक भी मामला नहीं है।''

राहुल गांधी ने एमआईएम पर निशाना साधते हुए कहा कि जहां भी कांग्रेस बीजेपी से लड़ रही है, वहां वह बीजेपी की मदद के लिए अपने उम्मीदवार उतार देती है। शनिवार रात हैदराबाद में बेरोजगार युवाओं के साथ अपनी मुलाकात का जिक्र करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि केसीआर सरकार ने टीएसपीएससी परीक्षा में पेपर लीक के जरिए उनका भविष्य बर्बाद कर दिया। उन्होंने मुझे बताया कि उन्होंने परीक्षा की तैयारी के लिए पैसे खर्च किए और कड़ी मेहनत की, लेकिन पेपर लीक ने उनके सारे सपने चकनाचूर कर दिए।


राहुल गांधी ने 30 नवंबर के विधानसभा चुनाव को 'दोराला सरकार' और 'प्रजला सरकार' के बीच लड़ाई बताया। उन्होंने वादा किया कि अगर कांग्रेस सत्ता में आई तो जनता का शासन लाएगी।

उन्होंने आरोप लगाया कि केसीआर सरकार पूरे देश में सबसे भ्रष्ट है। उन्होंने कहा कि तेलंगाना अलग राज्य के लिए लड़ते समय लोगों ने एक ऐसी सरकार का सपना देखा था जो गरीबों, आदिवासियों, किसानों और कमजोर वर्गों के लिए काम करेगी, लेकिन उन्हें एहसास हुआ कि एक परिवार उन पर शासन कर रहा है। उन्होंने लोगों को आश्वासन दिया कि केसीआर और उनके परिवार द्वारा उनसे लूटा गया पैसा कांग्रेस छह गारंटी लागू कर लोगों को वापस करेगी।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;