चंडीगढ़ में ईंधन बिक्री पर प्रतिबंध लगा, ट्रक ड्राइवरों की हड़ताल से गहरया संकट

बयान के अनुसार, चंडीगढ़ में ईंधन लेनदेन पर लगाई गई सीमाएं ईंधन आपूर्ति में अस्थायी व्यवधान की इस अवधि के दौरान सभी के लिए ईंधन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए एक सक्रिय उपाय है। ईंधन स्टेशन संचालकों से इन नियमों का पालन करने का आग्रह किया गया है।

चंडीगढ़ में ईंधन बिक्री पर प्रतिबंध लगा, ट्रक ड्राइवरों की हड़ताल से गहरया संकट
चंडीगढ़ में ईंधन बिक्री पर प्रतिबंध लगा, ट्रक ड्राइवरों की हड़ताल से गहरया संकट
user

नवजीवन डेस्क

केंद्र की मोदी सरकार द्वारा हिट एंड रन कानून में किए गए संशोधन के खिलाफ ट्रांस्पोर्टर की हड़ताल के कारण चंडीगढ़ में ईंधन टैंकरों के ड्राइवरों के काम नहीं करने के चलते पेट्रोल-डीजल की सीमित आपूर्ति से ईंधन संकट गहरा गया है। हालात को देखते हुए जिला मजिस्ट्रेट ने मंगलवार को ईंधन बिक्री पर अस्थायी प्रतिबंध लगा दिया है।

चंडीगढ़ प्रशासन के आदेश के अनुसार, अब दोपहिया वाहन के लिए प्रति लेनदेन अधिकतम दो लीटर और अधिकतम मूल्य 200 रुपये तक सीमित हैं। जबकि, चार पहिया वाहन के लिए प्रति लेनदेन पांच लीटर, अधिकतम मूल्य 500 रुपये तक सीमित की गई है। यह फैसला ईंधन की सीमित आपूर्ति के कारण लिया गया है।


एक आधिकारिक बयान के अनुसार, ईंधन लेनदेन पर लगाई गई सीमाएं ईंधन आपूर्ति में अस्थायी व्यवधान की इस अवधि के दौरान सभी के लिए ईंधन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए एक सक्रिय उपाय है। ईंधन स्टेशन संचालकों से इन नियमों का पालन करने का आग्रह किया गया है।

साथ ही चंडीगढ़ प्रशासन ने उपभोक्ताओं से लगाए गए प्रतिबंधों में सहयोग करने का अनुरोध किया है। जिला मजिस्ट्रेट ने इस बात पर जोर दिया कि यह उपाय सामान्य स्थिति बहाल होने तक मौजूदा स्थिति को प्रबंधित करने के लिए एक एहतियाती कदम है, ताकि सभी के लिए ईंधन की उपलब्धता सुनिश्चित हो सके।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;