कर्नाटक के मंदिर में दलितों को प्रवेश से रोकने पर तनाव, यादगीर जिले के कई गांवों में धारा 144 लागू

पुलिस के मुताबिक गांव अमलिहलाला स्थित हनुमान मंदिर में हुविनाहल्ली गांव के दलितों को प्रवेश से वंचित कर दिया गया था। इससे उठे विवाद के बाद स्थिति तनावपूर्ण हो गई। दलितों को प्रवेश से वंचित करने की दलित संगठनों ने निंदा की थी और उन्होंने विरोध भी किया था।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

कर्नाटक के यादगीर जिले में एक हनुमान मंदिर में दलितों को प्रवेश देने से इनकार करने पर उठे विवाद को लेकर तनाव बढ़ गया है। एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि पिछले चार दिनों से स्थिति तनावपूर्ण है, जिसे देखते हुए पुलिस ने यादगीर जिले के हुनासगी तालुक के अमलिहला और हुविनाहल्ली गांवों में धारा 144 लागू कर दी है।

पुलिस के मुताबिक, चार दिन पहले गांव अमलिहलाला स्थित हनुमान मंदिर में हुविनाहल्ली गांव के दलितों को प्रवेश से वंचित कर दिया गया था। मंदिर में प्रवेश से रोके जाने पर उठे विवाद के बाद स्थिति हाथ से फिसलती नजर आई। दलितों को प्रवेश से वंचित करने की दलित संगठनों ने निंदा की थी और उन्होंने विरोध भी किया था।


यादगीर के पुलिस अधीक्षक सीबी वेधामूर्ति ने दोनों गांवों का दौरा किया है। इस बीच, वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों और जिला अधिकारियों ने इस मुद्दे पर एक सफलता हासिल करने में कामयाबी हासिल की है। दलित समुदाय के आठ लोगों को शनिवार को पुलिस सुरक्षा के साथ मंदिर ले जाया गया। हालांकि दोनों गांवों में स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। किसी भी तरह की अप्रिय घटना को रोकने के लिए सुरक्षा कड़ी कर दी गई है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia