26/11 जैसे हमले की फिराक में थे नगरोटा में मारे गए आतंकी, पीएम ने की हाईलेवल मीटिंग, सुरक्षाबलों को सराहा

जम्मू के नगरोटा में मारे गए चारों आतंकी 26/11 हमले की बरसी पर किसी बड़ी साजिश को अंजाम देने की फिराक में थे। इस मामले पर पीएम मोदी की अगुवाई में आज एक हाईलेवल मीटिंग हुई, जिसके बाद पीएम ने आतंकियों के मंसूबों को नाकाम करने के लिए सुरक्षाबलों की सराहना की है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

आसिफ एस खान

जम्मू-कश्मीर के नगरोटा में गुरूवार को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारे गए चारों आतंकी सीमा पार से आए थे और भारत में 26/11 हमले की बरसी पर बड़े हमले को अंजाम देने की फिराक में थे। मामले की गंभीरता को देखते हुए आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक हाईलेवल मीटिंग कर हालात की समीक्षा की। इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, एनएसए अजित दोभाल और विदेश सचिव के साथ सभी एजेंसियों के अधिकारी मौजूद रहे।

इस बैठक के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घाटी में घुसपैठ कर बड़ी तबाही की साजिश को अंजाम देने आए जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों के मंसूबों को नाकाम करने के लिए सुरक्षाबलों की तारीफ की है। पीएम ने कहा कि बहादुर जवानों की सतर्कता से नापाक साजिश विफल हो गई। पीएम ने कहा, "पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े 4 आतंकवादियों के मारे जाने और भारी मात्रा में हथियारों और विस्फोटकों की मौजूदगी यह संकेत देती है कि बड़ी तबाही मचाने की उनकी कोशिशों को फिर से विफल कर दिया गया है।"

इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी ने अपने दूसरे ट्वीट में कहा, "हमारे सुरक्षा बलों ने एक बार फिर अत्यंत बहादुरी और प्रोफेशनलिज्म का प्रदर्शन किया है। उनकी सतर्कता ने जम्मू-कश्मीर में जमीनी स्तर के लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं की स्थापना को निशाना बनाने की एक नापाक साजिश को हराया है।"

बता दें कि जैश-ए-मोहम्मद के चार आतंकियों ने बीते बुधवार की रात सांबा में अंतर्राष्ट्रीय सीमा से भारत में घुसपैठ की थी। वे एक ट्रक में सवार होकर जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर जा रहे थे। खुफिया इनपुट पर पुलिस ने जम्मू के नगरोटा के पास ट्रक को रोक लिया। इस दौरान आतंकियों ने ग्रेनेड से हमला कर दिया। सुबह तक चली मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों ने पूरे ट्रक को उड़ा दिया था। जिससे ट्रक में सवार चारों आतंकी मारे गए। खुफिया एजेंसियों को आशंका थी कि आतंकी 26/11 की बरसी पर बड़ी आतंकी घटना को अंजाम देने की फिराक में थे।

Published: 20 Nov 2020, 6:07 PM
लोकप्रिय
next