2014 में जो सिलेंडर 500 के अंदर था, वो कैसे पहुंचा 1100 के पार? कांग्रेस ने समझाया क्या है गणित

मोदी सरकार द्वारा LPG सिलेंडर के दामों में बढोतरी को लेकर कांग्रेस ने हमला बोला है। कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर केंद्र के महंगाई के सफरनामे के बारे में बताया। साथ ही यूपीए के समय दी गई सब्सिडी के बारे में भी जानकारी दी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

होली से पहले सिलेंडर के दाम में बढ़ोतरी को लेकर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी के बाद अब कांग्रेस के प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने इस मुद्दे को लेकर केंद्र पर हमला बोला है। राजधानी दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि "मित्रकाल में बड़ी बेरहम हो गई है मोदी सरकार, रसोई गैस 1100 तो कमर्शियल सिलेंडर 2100 के पार, अपने मित्रों पर खूब बरसाए प्यार और देश की जनता करे महंगाई से हाहाकार"। उन्होंने कहा कि मोदी जी ने जनता को होली से सात दिन पहले तोहफा दिया है। मोदी जी नहीं चाहते कि लोग होली पर अपनी रसोई में कुछ बनाएं। वो ये भी नहीं चाहते कि वो बाहर से खरीद ले।

गौरव वल्लभ ने मोदी सरकार के 9 साल का आर्थिक इंपैक्ट एक कहानी के रूप में बताया। उन्होंने कहा कि एक बच्चा जब जन्म लेता है, तो सबसे पहले वो जो आहर ग्रहण करता है मां के दूध के बाद तो वो है दूध। 2022 की बात करें तो दूध के दाम 8 रुपए लीटर बढ़े, आटे के दाम 40% तक बढ़े, 2023 में मसालों के दाम 21% बढ़े। पढ़ाई के लिए लोन पर ब्याज दर बढ़ी, इसके अलावा साल 2023 में बेरोजगारी की दर 7.45% रही ।

गौरव वल्लभ ने आगे तंज कसते हुए कहा कि इन सबके बाद मोदी सरकार उस बच्चे से कहती है कि जो जन्म से लेकर यहां तक की यात्रा हुई उसके लिए मुझे बोलो थैंक्यू मोदी जी। गौरव ने कहा कि ये मोदी सरकार का महंगाई के लिए सफरनामा है।

गौरव वल्लभ ने कहा कि रसोई गैस का सिलेंडर 2014 में जो 500 के अंदर था वो 1100 के पार कैसे पहुंच गया? इसका गणित मैं आज आपके सामने लेकर आया हूं। उन्होंने कहा कि पेट्रोलियम मंत्रालय द्वारा बनाई गई टेबल के मुताबिक 2004-2005 से लेकर 2013-2014 के बीच सिलेंडर पर सब्सिडी 2 लाख 14 हजार करोड़ भारत सरकार (कांग्रेस) ने दी। कांग्रेस ने 10 साल में 2 लाख 14 हजार करोड़ सब्सिडी इसलिए दी ताकी रसोई गैस के दाम 500 के बाहर ना जा पाए। गौरव ने कहा कि उस समय जो गैस बाहर से हम मंगाते थे उस दौरान कीमते आज से ज्यादा थी, लेकिन उसको हमने 500 के बाहर नहीं जाने दिया।

गौरव ने कहा कि मोदी सरकार की बात करें तो मोदी सरकार ने पिछले 9 सालों में सब्सिडी दी है 36 हजार 500 करोड़ रुपये। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि जब सवाल पूछा जाता है तो कहते हैं कि सिलेंडर लो गैस भरवाओ उज्जवला योजना है। गौरव ने पूछा कि उज्जवला योजना में दूसरा सिलेंडर भरवाएं तो भरवाएं कैसे?

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि यहीं पर लूट नहीं रुकी है। घरेलू सिलेंडर पर मोदी सरकार 5 प्रतिशत जीएसटी भी लेती है, वहीं कमर्शियल सिलेंडर पर 18 प्रतिशत जीएसटी लेती है। गौरव वल्लभ ने समझाया कि अगर आप बाहर से मिठाई लेंगे तो वो महंगी पड़ेगी क्योंकि कमर्शियल सिलेंडर पर भी जीएसटी 18 प्रतिशत है। तो मोदी जी चाहते हैं कि ना तो आप मीठा खाओ, ना नमकीन खाओ, ना दूध का सेवन करो, लेकिन कहो थैंक्यू मोदी जी।

गौरव वल्लभ ने कहा कि राजस्थान में हमारी सरकार गैस सिलेंडर 500 रुपये से कम में दे रही है। राज्यों से सीखो मोदी जी। हमारी मांग है कि रसोई गैस की कीमत 500 रुपये से कम की जाए। अगर यह कीमत 500 रुपये से अधिक होती है तो यह जीडीपी वृद्धि के लिए ठीक नहीं होगा। यह पूछे जाने पर कि अगर 2024 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस जीतती है और उसकी सरकार बनती है तो क्या घरेलू रसोई गैस सिलेंडर की कीमत 500 रुपये से कम की जाएगी तो गौरव वल्लभ ने कहा जब हम राजस्थान में यह कर सकते हैं तो देश में ऐसा क्यों नहीं करेंगे। उन्होंने कहा हम प्रण लेते हैं कि 2024 में अगर हमारी सरकार बनती है तो घरेलू गैस सिलेंडर की कीमत 500 रुपये से अधिक नहीं होगी।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;