बिहार में तेजी से कम हो रही कोरोना मरीजों की संख्या, ज्यादातर मरीजों को अस्पताल जाने की जरूरत नहीं पड़ी

तीसरी लहर में राहत की बात रही की ज्यादातर मरीजों को अस्पताल जाने की जरूरत नहीं पड़ी और ज्यादातर मरीज घर पर ही रहकर कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो गए।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

बिहार में कोरोना की तीसरी लहर में अब मरीजों की संख्या तेजी से कम हो रही है। पिछले कुछ दिनों के आंकड़े पर गौर करें तो मिलने वाले नए मरीजों की संख्या में लगातार गिरावट आ रही है।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों पर गौर करें तो राज्य में 29 जनवरी को 1302 नए मरीजों की पहचान की गई थी, जबकि 7 फरवरी को राज्य भर में 235 नए मरीजों की पुष्टि हुई है। बिहार में 14 जनवरी को 6541 नए मरीजों की पहचान की गई थी।

वैसे, तीसरी लहर में राहत की बात रही की ज्यादातर मरीजों को अस्पताल जाने की जरूरत नहीं पड़ी और ज्यादातर मरीज घर पर ही रहकर कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो गए।

आंकड़ों के हवाले से राज्य में इस महीने के पहले दिन यानी 1 फरवरी को राज्यभर में 824 नए संक्रमित मिले थे, जबकि उसके एक दिन बाद 2 फरवरी को 799 मरीज सामने आए थे। इसी तरह, पांच फरवरी को 442 नए मरीज मिले थे जबकि छह फरवरी को नए मिलने वाले मरीजों की संख्या महज 295 थी।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी अनुमान लगा रहे हैं कि तीसरी लहर का पीक समाप्ति की ओर है।

विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक राज्य के कई जिलों में अब नए मरीज सामने नहीं आ रहे हैं। हालांकि विशेषज्ञ अभी भी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने की सलाह दे रहे हैं।

बिहार में फिलहाल कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या 2354 तक पहुंच गई है जबकि रिकवरी दर 98.24 प्रतिशत है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia