दिल्ली की हवाओं में घुले 'जहर' का और बढ़ा प्रकोप, दिवाली के बाद 33 गुना बढ़ गया वायु प्रदूषण

सीपीसीबी के आंकड़ों के अनुसार, आज सुबह 5 बजे दिल्ली के आरके पुरम में औसत एक्यूआई 422 (गंभीर) दर्ज किया गया। फेफड़ों को नुकसान पहुंचाने वाले पार्टिकल्स पीएम 2.5 प्रमुख प्रदूषक रहा है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली में हवा की गुणवत्ता गंभीर श्रणी में पहुंच गई है। दिवाली के बाद हालात और बिगड़े हैं। आलम यह है कि दिवावी के बाद राजधानी में 33 गुना प्रदूषण और बढ़ गया है। आज भी वायु गुणवत्ता में कोई सुधार नहीं हुआ है। राजधानी के कुछ इलाकों में AQI काफी बढ़ गया है।

दिवाली के बाद बढ़ गया 33 गुना प्रदूषण

दिल्ली में आनंद विहार को वायु प्रदूषण का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट बताया जाता है। रविवार रात यह राजधानी का सबसे प्रदूषित इलाका रहा। इस इलाके में हुई आतिशबाजी की वजह से प्रदूषण का स्तर काफी ज्यादा बढ़ गया। लोगों ने इस इलाके में जमकर पटाखे जलाए और सुप्रीम कोर्ट के नियमों का खुलकर उल्लंघन किया।

आनंद विहार में रात तक पीएम 2.5 का स्तर 1,985 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर (µg/m3) पहुंच गया। राष्ट्रीय सुरक्षा मानकों के हिसाब से यह 33 फीसदी ज्यादा है। राष्ट्रीय सुरक्षा मानक 60 µg/m3 की बात करता है, जबकि वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) के जरिए बताए गए 15 µg/m3 की तुलना में यह 132 फीसदी ज्यादा रहा। ऐसा ही हाल दिल्ली के बाकी के इलाकों में भी देखने को मिला, जहां तय किए गए मानकों से ज्यादा प्रदूषण दर्ज किया गया।


कहां कितना AQI है?

सीपीसीबी के आंकड़ों के अनुसार, आज सुबह 5 बजे दिल्ली के आरके पुरम में औसत एक्यूआई 422 (गंभीर) दर्ज किया गया। फेफड़ों को नुकसान पहुंचाने वाले पार्टिकल्स पीएम 2.5 प्रमुख प्रदूषक रहा है। वहीं, द्वारका की वायु गुणवत्ता 406 एक्यूआई के साथ गंभीर स्तर पर बनी हुई है। आईटीओ में सुबह 5 बजे एक्यूआई 432 गंभीर श्रणी में दर्ज किया गया।

हरियाणा के गुरुग्राम के सेक्टर-51 में सुबह एक्यूआई 430 दर्ज किया गया। नोएडा सेक्टर-62 में 377 एक्यूआई रिकॉर्ड किया गया।

एयर क्वालिटी पर नजर रखने वाली स्विस कंपनी IQAir के मुताबिक, सोमवार को दिल्ली दुनिया का सबसे प्रदूषित शहर रहा। इसके बाद पाकिस्तान में लाहौर और कराची सबसे प्रदूषित शहर थे। दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों में मुंबई और कोलकाता पांचवें और छठे स्थान पर हैं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


/* */