लॉकडाउन में मजदूरों की मौत का रिकॉर्ड नहीं होने पर राहुल बोले- जमाने ने देखा उनका मरना, मोदी सरकार को खबर नहीं

राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार नहीं जानती कि लॉकडाउन में कितने प्रवासी मजदूर मरे और कितनी नौकरियां गयीं। शायराना अंदाज में तंज कसते हुए कहा कि तुमने ना गिना तो क्या मौत ना हुई? हां मगर दुख है सरकार पे असर ना हुई, उनका मरना देखा जमाने ने, एक मोदी सरकार है जिसे खबर ना हुई।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

कोरोना लॉकडाउन के दौरान देश में कई मौतें हो चुकी हैं। इस बीच सरकार ने सोमवार को संसद में कहा कि उसके पास इसका कोई रिकॉर्ड नहीं है कि कोरोना लॉकडाउन में कितने लोगों की मौत हुई है। सरकार के इस तर्क पर अब राहुल गांधी ने हमला बोला है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार नहीं जानती की लॉकडाउन के दौरान कितने प्रवासी मजदूरों की मौत हुई और कितने लोगों की नौकरियां गई।

उन्होंने शायराना अंदाज में सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि तुमने ना गिना तो क्या मौत ना हुई? हां मगर दुख है सरकार पे असर ना हुई, उनका मरना देखा ज़माने ने, एक मोदी सरकार है जिसे ख़बर ना हुई।

बता दें कि कोरोना वायरस के चलते सदन में इस बार लिखकर सवाल जवाब किए जा रहे हैं। विपक्ष के कई सांसदों ने लोकसभा में सरकार से पूछा कि लॉकडाउन के चलते देश में कितने प्रवासी मजदूरों की जान गई।

गौरतलब है कि देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या में बेतहाशा बढ़ोतरी का सिलसिला जारी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी ताजा आकंड़ों के मुताबिक, देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 83,809 नए मामले सामने आए हैं और 1,054 लोगों की मौत हो गई है।

देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 49 लाख के पार पहुंच गई है। देश में कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या 49,30,237 हो गई है। इसमें 9,90,061 मामले सक्रिय हैं। वहीं, 38,59,400 लोगों को अब तक इलाज के बाद डिस्चार्ज किया जा चुका है। वहीं, कोरोना की चपेट में आकर अब तक 80,776 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।

लोकप्रिय
next