दिल्ली में फिलहाल नहीं लगेगा लॉकडाउन, लेकिन प्रतिबंधों को और कड़ा किया जाएगा, DDMA बैठक में फैसला

इस बीच दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, शहर का पॉजिटिविटी रेट 23.53 फीसदी हो गया है। रविवार को दिल्ली में 22,751 नए कोरोना मामले दर्ज किए गए, जो पिछले आठ महीनों में सबसे अधिक है। इससे पहले 1 मई 2021 को 25,219 मामले दर्ज किए गए थे।

फोटोः ANI
फोटोः ANI
user

नवजीवन डेस्क

राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने सोमवार को स्पष्ट किया है कि राजधानी में प्रतिबंधों को और कड़ा किया जाएगा, लेकिन फिलहाल कोई लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा। दिल्ली में कोरोना की स्थिति की समीक्षा के लिए सोमवार दोपहर हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया।

इससे पहले आधिकारिक सूत्रों ने पहले कहा था कि दिल्ली में कोविड के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए सोमवार दोपहर को दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) की बैठक निर्धारित की गई है, जिसमें कड़े प्रतिबंध तय किए जा सकते हैं, क्योंकि मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इसके बाद से लोगों में लॉकडाउन लगने को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया था।


इस बीच दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, शहर का पॉजिटिविटी रेट 23.53 फीसदी हो गया है। रविवार को दिल्ली में 22,751 नए कोरोना मामले दर्ज किए गए, जो पिछले आठ महीनों में सबसे अधिक है। इससे पहले 1 मई 2021 को 25,219 मामले दर्ज किए गए थे। इसके साथ, संक्रमण की संख्या अब 15,49,730 तक पहुंच गई है, और सक्रिय कोविड मामले 60,733 हैं, जो कि 16 मई के बाद से उच्चतम संख्या है।

इस बीच, राष्ट्रीय राजधानी में सप्ताहांत (वीकेंड) के दौरान कुछ प्रतिबंधों के साथ येलो अलर्ट के तहत कर्फ्यू पहले ही लगाया जा चुका है। महामारी से संबंधित प्रतिबंध संक्रमण दर की गंभीरता पर निर्भर करते हैं, जो कि डीडीएमए द्वारा अनुमोदित ग्रेडेड एक्शन रिस्पांस प्लान (जीआरएपी) के तहत तय किया जाता है। जहां यह तय किया जाता है कि किन हालात में किन गतिविधियों की अनुमति दी जाएगी। कोरोना मामलों में वृद्धि को अलर्ट के चार स्तरों के साथ मापा जाता है, जिसमें येलो, एम्बर, ऑरेंज और रेड शामिल हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia