उत्तराखंड चुनाव को लेकर 50 बॉर्डर चेकपोस्ट पर रहेगा सख्त पहरा, 3 राज्यों की पुलिस के बीच बनी सहमति

उत्तराखंड पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार की अध्यक्षता में तीन राज्यों की पुलिस की बैठक हुई, जिसमें आपसी सामंजस्य से ऐसे कार्य करने पर जोर दिया गया, जिससे राज्य के चुनाव में बाहरी राज्यों के अपराधी सीमाओं को पार करने का साहस न कर सकें और चुनाव भी प्रभावित न हो।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव नजदीक हैं। ऐसे में चुनाव को निष्पक्ष और शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराना भी पुलिस के लिए एक बड़ी चुनौती है। इसी कड़ी में उत्तराखंड पुलिस ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हिमाचल प्रदेश और उत्तर प्रदेश पुलिस के अधिकारियों के साथ बैठक की, जिसमें चुनाव के दौरान मतदान प्रक्रिया प्रभावित करने वाले आपराधिक और असामाजिक तत्वों की उत्तराखंड में घुसपैठ न हो सके, इस पर बातचीत की गई।

दरअसल, उत्तराखंड पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार की अध्यक्षता में तीन राज्यों की पुलिस की बैठक आयोजित की गई। बैठक में आपसी सामंजस्य बनाकर ऐसे कार्य करने पर जोर दिया गया, जिससे उत्तराखंड के चुनाव में बाहरी राज्यों के अपराधी सीमाओं को पार करने का साहस न कर सकें और चुनाव भी प्रभावित न हो। वहीं, आपराधिक एवं असामाजिक तत्व जो चुनाव प्रक्रिया में बाधा उत्पन्न कर सकते हैं, उन पर कड़ी निगरानी रख जा सके। उनके अलावा अवैध मादक पदार्थ, शराब, शस्त्र और कैश की तस्करी रोकने के लिए भी विशेष रणनीति बनाई गई।


राज्य के तीन प्रमुख जिले हैं जिनसे उत्तर प्रदेश की सीमाएं मिलती हैं। यहां 50 बॉर्डर चेकपोस्ट पर अतिरिक्त फोर्स का कड़ा पहरा रहेगा। उधम सिंह नगर से लगते उत्तर प्रदेश की 30 बॉर्डर चेकपोस्ट, हरिद्वार से लगते यूपी सीमा के 20 चेकपोस्ट समेत देहरादून से लगते पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सीमावर्ती 10 चेकपोस्टों पर 24 घंटे निगरानी रखी जा रही है। इतना ही नहीं तीनों राज्यों की पुलिस बॉर्डर चेकपोस्ट पर 14 घंटे संयुक्त चेकिंग अभियान जारी रखेगी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia