यह राष्ट्रपति चुनाव दो व्यक्ति नहीं, दो विचारधारा की लड़ाई, विपक्षी उम्मीदवार यशवंत सिन्हा ने जारी की अपील

यशवंत सिन्हा ने कहा कि मैं धर्मनिरपेक्षता की रक्षा के लिए खड़ा हूं, जो हमारे संविधान का एक प्रस्तावना स्तंभ है। मेरी प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवार उस पार्टी से हैं जिसने इस स्तंभ को नष्ट करने और बहुसंख्यक वर्चस्व स्थापित करने के अपने संकल्प पर काम किया है।

फोटोः वीडियोग्रैब
फोटोः वीडियोग्रैब
user

नवजीवन डेस्क

राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी दलों के साझा उम्मीदवार यशवंत सिन्हा ने सोमवार को होने वाली वोटिंग से पहले रविवार को सभी राजनीतिक दलों से समर्थन की मांग करते हुए अपील जारी की है। यशवंत सिन्हा ने कहा कि इस बार का राष्ट्रपति चुनाव दो व्यक्तियों के बीच नहीं, बल्कि दो विचारधाराओं के बीच का चुनाव है। इस साल राष्ट्रपति चुनाव दो व्यक्तियों के बीच नहीं, बल्कि दो विचारधाराओं के बीच का चुनाव है। केवल एक पक्ष हमारे संविधान में निहित प्रावधानों और मूल्यों की रक्षा करना चाहता है। मैं सभी सांसदों और विधायकों से इस बार संविधान और उनकी अंतरात्मा की आवाज़ पर वोट करने की अपील करता हूं।

सभी राजनीतिक दलों को संबोधित अपने अपील में यशवंत सिन्हा ने कहा कि वह भारत के लोकतंत्र की रक्षा के लिए खड़े हैं, जबकि द्रौपदी मुर्मू को उन लोगों का समर्थन प्राप्त है जो लोकतंत्र पर रोज हमले कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि "मैं धर्मनिरपेक्षता की रक्षा के लिए खड़ा हूं, जो हमारे संविधान का एक प्रस्तावना स्तंभ है। मेरी प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवार उस पार्टी से हैं जिसने इस स्तंभ को नष्ट करने और बहुसंख्यक वर्चस्व स्थापित करने के अपने संकल्प पर काम किया है।”


यशवंत सिन्हा ने कहा कि मैं आम सहमति और सहयोग की राजनीति को प्रोत्साहित करने के लिए खड़ा हूं। मेरे प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवार को एक ऐसी पार्टी का समर्थन प्राप्त है जो संघर्ष और टकराव की राजनीति करती है। बीजेपी पर निशाना साधते हुए उन्होंने आगे कहा कि अगर उनकी उम्मीदवार द्रोपदी मुर्मू को भारत के अगले राष्ट्रपति के रूप में चुना जाता है, तो वे उन लोगों के नियंत्रण में होंगी, जिनका उद्देश्य लोकतांत्रिक भारत को कम्युनिस्ट चीन की राह पर चलने वाले में बदलना है। सिन्हा ने अपील में कहा कि एक राष्ट्र, एक पार्टी, एक सर्वोच्च नेता के विचार को क्या नहीं रोका जाना चाहिए? केवल आप ही इसे रोक सकते हैं।

यशवंत सिन्हा ने ट्विटर पर शेयर किए गए वीडियो अपील में देश के सभी विधायकों और सांसदों से अपनी समझ के अनुसार वोट करने का आग्रह किया। बता दें कि देश के नए राष्ट्रपति का चुनाव सोमवार को होना है, जबकि मतगणना गुरुवार को होगी।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;