जम्मू-कश्मीर में LoC पर पाकिस्तानी गोलाबारी में तीन जवान शहीद, 5 घायल, तनाव बढ़ा, हाई अलर्ट घोषित

जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा से सटे नौगाम और केजी सेक्टर में पाकिस्तान की तरफ से हुई भारी गोलाबारी में भारत के तीन जवान शहीद हो गए, जबकि 5 जवान बुरी तरह घायल हैं। पाकिस्तान की ओर से भारी गोलाबारी के बाद एलओसी से सटे इलाकों में तनाव के हालात हैं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) से सटे इलाकों में पाकिस्तान की तरफ से हुई भारी गोलाबारी में भारत के 3 जवान शहीद हो गए और पांच घायल हो गए हैं। आज सुबह उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के नौगाम सेक्टर में पाकिस्तानी गोलाबारी में दो जवान शहीद हो गए, जबकि चार बुरी तरह घायल हो गए, जिनका इलाज किया जा रहा है।

सेना ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि पाकिस्तान ने आज सुबह कुपवाड़ा के नौगाम सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर मोर्टार और अन्य हथियारों से भारी गोलीबारी कर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया, जिसमें दो सैनिक बुरी तरह से घायल होने के कारण शहीद हो गए। जबकि चार घायल सैनिकों को स्थानांतरित किया गया है। कड़ी जवाबी कार्रवाई की जा रही है।

इससे पहले, बुधवार रात को पुंछ में नियंत्रण रेखा के किनारे कृष्णाघाटी क्षेत्र में पाकिस्तान द्वारा किए गए संघर्ष विराम उल्लंघन में एक सैनिक शहीद हो गया था। उसकी पहचान लांस नायक करनैल सिंह के रूप में की गई है। केजी सेक्टर में बुधवार देर रात से ही भारी गोलाबारी से इस इलाके में तनाव का माहौल बना हुआ है। पाकिस्तानी सेना के जवानों ने यहां पर रिहाइशी इलाकों में भी गोले बरसाए हैं। ग्रामीणों को सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट किया गया है।

नियंत्रण रेखा पर हुई भारी गोलाबारी के बाद एलओसी और सीमा पर हाई अलर्ट घोषित किया गया है। इसके अलावा नियंत्रण रेखा से सटे तमाम रिहाइशी इलाकों में ग्रामीणों को सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट किया जा रहा है। सेना पूरी तरह से तैयारी है और सीमा पार से किसी भी हरकत का मुंहतोड़ जवाब दे रही है।

बता दें कि कश्मीर घाटी के कुपवाड़ा जिले और जम्मू के राजौरी और पुंछ जिलों में नियंत्रण रेखा के पास पाकिस्तान की ओर से संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाओं में तेजी आई है। इन इलाकों में पाकिस्तान आए दिन नागरिकों को निशाना बनाते हुए लंबी रेंज वाली मोर्टार दागता है। वहीं सेना का कहना है कि वह एलओसी के किनारे पाकिस्तान की आक्रामकता के सभी हमलों का जवाब दे रही है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia