जो लोग देश को बचाना चाहते हैं, समय आ गया है कि कांग्रेस के साथ जुड़ेंः जिग्नेश मेवानी

वामपंथी नेता कन्हैया कुमार आज कांग्रेस में शामिल हो गए। गुजरात से निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवानी ने भी कांग्रेस के साथ आने का ऐलान किया। हालांकि, तकनीकी कारणों से उन्होंने औपचारिक रूप से कांग्रेस की सदस्यता नहीं ली, लेकिन पार्टी के साथ होने का ऐलान किया।

फोटोः विपिन
फोटोः विपिन
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की मौजूदगी में मंगलवार को जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार और गुजरात से निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवानी कांग्रेस में शामिल हो गए। हालांकि, मेवानी ने तकनीकी कारणों से आज औपचारिक रूप से कांग्रेस की सदस्यता नहीं ली, लेकिन उन्होंने कांग्रेस के साथ होने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि साल 2022 का गुजरात चुनाव वह कांग्रेस के टिकट पर ही लड़ेंगे।

कांग्रेस मुख्यालय में स्वागत कार्यक्रम के बाद जिग्नेश मेवानी ने प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि मैं एक निर्दलीय विधायक हूं, इसलिए औपचारिक रूप से कांग्रेस ज्वॉइन नहीं कर सकता, लेकिन इस विचार के साथ होना ये महत्वपूर्ण बात है। और राहुलजी ने भी कहा कि वो पर्चा भरकर सदस्य बनने की बात है, वो तो कल भी कर लेंगे, अभी अपने क्षेत्र के लोगों के साथ खड़े रहो। उन्होंने कहा कि 2022 के चुनाव में कांग्रेस के सिंबल पर ही चुनाव लड़ूंगा और कांग्रेस के लिए कैंपेन करूंगा।

जिग्नेश मेवानी ने कहा कि आज हमारा संविधान, लोकतंत्र खतरे में है, उसे हमें बचाना है। उन्होंने कहा कि जो कहानी गुजरात से शुरू हुई, उसने 6-7 साल में देश में जो उत्पात मचाया है, वो सबके सामने है। हमारे संविधान पर हमला हो रहा है। आइडिया ऑफ इंडिया पर हमला हो रहा है। आज भाई-भाई एक-दूसरे का दुश्मन बन जाए, उतना जहर नागपुर और दिल्ली सोची-समझी साजिश के तहत फैला रहे हैं। कुछ भी करके इस मुल्क के संविधान, लोकतंत्र और आइडिया ऑफ इंडिया को बचाना है और इसके लिए मुझे उसके साथ खड़े होना है जिसने अंग्रेजों को खदेड़ कर दिखाया है, इसलिए मैं आज कांग्रेस के साथ खड़ा हूं।


दलित नेता ने कहा कि आज राष्ट्रीय स्तर पर जो हो रहा है, वो सब कुछ हम लोग गुजरात में देख चुके हैं, झेल चुके हैं। मैं बड़ी चिंता के साथ ये कहना चाहता हूं कि 3 हजार किलो का ड्रग्स 15-20 लाख बेरोजगार युवाओं को नशे के चंगुल में फंसाने के लिए गुजरात में अडानी के पोर्ट पर उतर रहा था। आज जब महंगाई और बेरोजगारी चरम पर है, तब रोजगार देने के बजाय ये फासीवादी ताकतें चाहती हैं कि उन्हें रोजगात तो न मिले, उन्हें नशे की हालत में छोड़ दिया जाए। इन सारी परिस्थितियों में बाबा साहब अंबेडकर के संविधान को बचाना है, आइडिया ऑफ इंडिया को बचाना है।

जिग्नेश मेवानी ने प्रधानमंत्री मोदी के सेंट्रल विस्टा साइट पर जाने पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री जब अमेरिका से वापस आते हैं तो देखने जाते हैं कि सेंट्रल विस्टा का काम ठीक से चल रहा है या नहीं, लेकिन किसानों से मिलने के लिए नहीं जाते। तो किसानों, महिलाओं, दलितों, मजदूरों पर जो हमला हो रहा है, उसे रोकने के लिए मैं सबसे अपील करता हूं कूद पड़िए, एक नया आंदोलन छीड़ने वाला है। स्वतंत्रता के लिए जो आंदोलन चला था, वैसा ही आंदोलन खड़ा होने वाला है। वो सभी लोग जो इस देश को बचाना चाहते हैं, उन सबसे अपील है कि ये बहुत की गंभीर समय है, इसलिए कांग्रेस के साथ जुड़िए।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia