टीएमसी ने सुवेंदु पर बाहर से गुंडे बुलाने का आरोप लगाया, चुनाव आयोग से की रोक की मांग

टीएमसी नेताओं ने बंगाल के दूसरे चरण के चुनाव के दौरान पूर्वी मिदनापुर में यूपी, एमपी, बिहार और किसी भी अन्य बीजेपी/एनडीए शासित राज्यों से आए सशस्त्र बलों की तैनाती नहीं करने की मांग की है, ताकि चुनाव में सशस्त्र बलों द्वारा पक्षपातपूर्ण कार्रवाई न हो सके।

फाइल फोटोः सोशल मीडिया
फाइल फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पश्चिम बंगाल के नंदीग्राम को लेकर टीएमसी के एक डेलीगेशन ने आज बंगाल के मुख्य निर्वाचन अधिकारी से मिलकर आरोप लगाया कि बीजेपी के सुवेंदु अधिकारी ने नंदीग्राम में बड़े पैमाने पर बाहरी अपराधियों को शरण दिया हुआ है। टीएमसी ने आयोग से आधिकारी द्वारा लाए गए सभी बाहरी अपराधियों को पकड़ने के लिए तत्काल आवश्यक कदम उठाने की मांग की है।

टीएमसी प्रतिनिधिमंडल ने सुवेंदु अधिकारी पर पूर्वी मिदनापुर के नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न इलाकों में बाहर से बुलाए गए अपराधियों को तैनात करने का आरोप लगाया है। टीएमसी ने आयोग से सभी असामाजिक तत्वों की तुरंत घेराबंदी करने और स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित कराने के लिए उन्हें हिरासत में लेने की मांग की है।

इसके साथ ही टीएमसी प्रतिनिधिमंडल ने बंगाल के दूसरे चरण के चुनाव के दौरान पूर्वी मिदनापुर में यूपी, एमपी, बिहार और किसी भी अन्य बीजेपी/एनडीए शासित राज्यों से आए सशस्त्र बलों की तैनाती नहीं करने की मांग की है, ताकि चुनाव में सशस्त्र बलों द्वारा कोई पक्षपातपूर्ण कार्रवाई न हो सके।

इससे पहले आज टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने नंदीग्राम में भव्य रोड शो कर एक जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि “जो लोग संस्कृति से प्यार नहीं कर सकते, वे यहां राजनीति नहीं कर सकते। नंदीग्राम में गुंडागर्दी हो रही है। हमने बिरुलिया में बैठक की तो टीएमसी कार्यालय को तोड़ दिया गया। वह (सुवेन्दु आदिकारी) जो चाहे कर रहा है। मैं भी गेम खेल सकती हूं। मैं भी शेर की तरह जवाब दूंगी। मैं रॉयल बंगाल टाइगर हूं।”

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय