त्रिपुरा हिंसा: गृह मंत्रालय के बाहर धरने पर बैठे TMC सांसद, अमित शाह से मुलाकात की जिद पर अड़े

त्रिपुरा में 25 नवंबर को होने वाले नगर निकाय से पहले BJP और TMC समर्थकों के बीच झड़प देखने को मिली है। TMC ने राज्य सरकार के खिलाफ SC का भी रुख किया है। TMC ने राजनीतिक दलों के शांतिपूर्ण प्रदर्शन के अधिकारों पर SC के मार्गदर्शन का पालन नहीं करने को लेकर सरकार के खिलाफ अवमानना का मामला दायर किया।

 फोटो: विपिन
फोटो: विपिन
user

नवजीवन डेस्क

त्रिपुरा में बीजेपी और टीएमसी के बीच टकराव का मामला अब तूल पकड़ने लगा है। एक ओर जहां ये मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। वहीं, दूसरी ओर हिंसा मामले को लेकर टीएमसी के सांसद गृह मंत्रालय के बाहर धरने पर बैठ गए है। तृणमूल कांग्रेस के कई सांसदों ने दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की मांग करते हुए उनके कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया।

आपको बता दें, त्रिपुरा में पुलिस की कथित बर्बरता और पार्टी की पश्चिम बंगाल यूनिट की युवा शाखा की सचिव सायानी घोष की गिरफ्तारी को लेकर टीएमसी सांसदों ने अमित शाह से मिलने का समय मांगा था। मुलाकात का समय नहीं देने पर सांसद मंत्रालय के बाहर ही धरने पर बैठ गए। गौरतलब है कि सायानी घोष को हत्या के प्रयास के आरोप में त्रिपुरा पुलिस ने रविवार को गिरफ्तार किया था।

गृह मंत्रालय के बाहर प्रदर्शन के दौरान TMC सांसद सुखेन्दु शेखर रॉय ने कहा, “त्रिपुरा की सरकार को बर्खास्त किया जाना चाहिए।त्रिपुरा में गुंडा राज कायम किया गया है।गृह मंत्री से हम मिलना चाहते थे लेकिन उन्होंने हमें समय नहीं दिया है।हमारी TMC युवा नेता पर झूठा मुकदमा दर्ज किया गया।” टीएमसी प्रतिनिधिमंडल में सुखेन्दु शेखर रॉय, कल्याण बनर्जी, डेरेक ओ ब्रायन, सौगत रॉय, डोला सेन और अन्य शामिल हैं।

गौरतलब है कि त्रिपुरा में 25 नवंबर को होने वाले नगर निकाय से पहले भारतीय जनता पार्टी और टीएमसी समर्थकों के बीच झड़प देखने को मिली है। टीएमसी ने राज्य सरकार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का भी रुख किया है। टीएमसी ने राजनीतिक दलों के शांतिपूर्ण प्रदर्शन के अधिकारों पर सुप्रीम कोर्ट के मार्गदर्शन का पालन नहीं करने को लेकर सरकार के खिलाफ अवमानना का मामला दायर किया है। जिस पर मंगलवार को सुनवाई होगी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia