हालात

पीएम मोदी को टीएमसी कार्यकर्ताओं ने भेजे 10,000 पोस्टकार्ड,लिखा- वंदे मातरम,जय हिंद- जय बांग्ला

टीएमसी भी किसी हाल में बीजेपी के सामने झुकने के मुड में नहीं है। इसके जवाब में अब तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं और दम-दम क्षेत्र के लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वंदे मातरम, जय हिंद-जय बांग्ला जैसे नारे लिखे 10,000 पोस्टकार्ड भेजे हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

लोकसभा चुनाव खत्म होने के बाद भी पश्चिम बंगाल में बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस के बीच तकरार जारी है। अब जय श्री राम के नारे को लेकर दोनों पार्टियां एक दूसरे पर हमलावर हैं। बीते दिनों बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के सामने जय श्री राम के नारे लगाए। जिस पर ममता बनर्जी भड़क गईं और नारा लगाने वालों के खिलाफ एक्शन लेने की बात कही।जिसके बाद बीजेपी कार्यकर्ता ममता को जय श्री राम लिखा पोस्टकार्ड भेजने लगे।

बीजेपी भगवान के नाम पर टीएमसी और ममता दीदी को घेरने में लगी है। लेकिन टीएमसी भी किसी हाल में बीजेपी के सामने झुकने के मुड में नहीं है। इसके जवाब में अब तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं और दम-दम क्षेत्र के लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वंदे मातरम, जय हिंद-जय बांग्ला जैसे नारे लिखे 10,000 पोस्टकार्ड भेजे हैं। इस पर दक्षिण दम दम नगर पालिका अध्यक्ष डी बनर्जी ने कहा कि हम लोग उन्हें दिखाना चाहते हैं कि लोगों के मन में क्या है। हम किसी के वाहन के आगे खड़े होकर जबरन उनके सामने नहीं चिल्लाएंगे।’

ममता बनर्जी बीजेपी के नारे और धर्म के राजनीतिक इस्तेमाल काफी नाराज हैं। ममता ने नाराजगी जाहिर करते हुए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे ट्विटर और फेसबुक पर अपनी प्रोफाइल पिक्चर को बदल दिया है। जिसमें जय हिंद, जंय बांग्ला लिखा नजर आ रहा है। इसके साथ ही तृणमूल के ट्विटर और फेसबुक अकाउंट की प्रोफाइल पिक्चर भी बदलकर जय हिंद, जय बांग्ला कर दी गई। पिक्चर में महात्मा गांधी, क्रांतिकारी नेता नेताजी सुभाष चंद्र बोस, भगत सिंह, मातंगिनी हाजरा, नोबेल पुरस्कार विजेता कवि रवींद्रनाथ टैगोर और कवि काजी नजरूल इस्लाम की तस्वीर हैं। उनके साथ ही पार्टी के दूसरे नेताओं ने भी ऐसा ही किया है।

ममता का कहना है कि बीजेपी ‘जय श्री राम’ के नारे को अपने राजनीतिक फायदे के लिए इस्तेमाल कर रही है। बीजेपी लगातार सीएम पर आरोप लगा रही है कि वह बंगाल में हिंदुओं की बात नहीं करती है और ‘जय श्री राम’ के नारे की विरोधी है।

लोकप्रिय