बंगाल चुनाव से पहले बागियों के BJP में शामिल होने पर TMC को नहीं पड़ेगा फर्क, पार्टी ने कहा- कचरा हुआ साफ

पश्चिम बंगाल की सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस के पूर्व राज्यसभा सदस्य और वर्तमान में राष्ट्रीय प्रवक्ता विवेक गुप्ता ने कहा कि बीजेपी ने लालच और भय दिखाकर हमारी पार्टी के कुछ नेताओं को तोड़ा है। टीएमसी नेताओं को केंद्रीय एजेंसियों का भी डर दिखाया गया।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव की सरगर्मी के बीच सुवेंदु अधिकारी सहित कई बड़े नेताओं और विधायकों के टूटकर भाजपा में जाने पर सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस ने बड़ा बयान दिया है। पार्टी ने कहा है कि जो विधायक भाजपा में गए हैं, उनका अपना कोई जनाधार नहीं हैं और वे अपने दम पर चुनाव नहीं जीत सके। उनके जाने से तृणमूल कांग्रेस की सेहत पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। लालच में नेताओं के साथ छोड़ने से तृणमूल कांग्रेस में कचरे की सफाई हुई है। पार्टी का साथ छोड़ने वालों की जगह नए चेहरों को मौका मिलेगा।

पश्चिम बंगाल की सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस के पूर्व राज्यसभा सदस्य और वर्तमान में राष्ट्रीय प्रवक्ता विवेक गुप्ता ने यहां कांस्टीट्यूशन क्लब में आईएएनएस से विशेष बातचीत में कहा, "भाजपा ने लालच और भय दिखाकर हमारी पार्टी के कुछ नेताओं को तोड़ा है। टीएमसी नेताओं को केंद्रीय एजेंसियों का भी डर दिखाया गया। जाने वाले को तो कोई रोक नहीं सकता। नाराज नेताओं के जाने से तृणमूल कांग्रेस पर कोई फर्क नहीं पड़ता। जो नेता गए हैं, वो अपने दम पर चुनाव नहीं जीत सकते। ममता बनर्जी के चेहरे पर सभी विधायक बने थे। अगर बागी नेताओं में दम होता तो वे बीजेपी में जाने की जगह निर्दल चुनाव लड़ने का साहस दिखाते। कौन अपना है और कौन पराया, इसकी पहचान हो गई है।"

तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा कि राज्य में भाजपा भले ही बड़े-बड़े दावे कर रही है, लेकिन बंगाल चुनाव में जनता ममता दीदी की इस बार हैट्रिक लगवाकर ही दम लेगी। राज्य में दो करोड़ से ज्यादा स्वास्थ्य साथी कार्ड बन चुके हैं। ऐसे में भाजपा के लोग सिर्फ हवा में ढोल पीट रहे हैं। गृहमंत्री अमित शाह की ओर से भाजपा को दो सौ सीटें जीतने के दावे पर विवेक गुप्ता ने कहा, "गृहमंत्री अमित शाह ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में भी बड़े-बड़े दावे किए थे, नतीजे में बीजेपी को कितनी सीटें मिलीं, यह सबको पता है। पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के चेहरे पर जनता वोट करेगी। बंगाल की सभी 294 सीटों पर ममता बनर्जी खड़ी हैं।"

बंगाल में राजनीतिक हिंसा रोकने में ममता बनर्जी सरकार के विफल होने के सवाल पर तृणमूल कांग्रेस प्रवक्ता विवेक गुप्ता ने कहा कि, "कानून-व्यवस्था बेशक राज्य का विषय है और ममता बनर्जी की सरकार इसे दुरुस्त करने के लिए लगातार काम कर रही है। हर दुर्घटना या अपराध से सभी को तकलीफ होती है। जब घटनाएं होती हैं तो पुलिस पेट्रोलिंग व अन्य तरीकों से अपराध कम करने की कोशिश होती है। अगर भाजपा को पश्चिम बंगाल की चिंता है तो उसे दिल्ली में इजरायल दूतावास के पास हुए बम विस्फोट को भी देखना चाहिए। घटनाएं किसी को बताकर नहीं आतीं।"

तृणमूल कांग्रेस प्रवक्ता विवेक गुप्ता ने दिसंबर में पश्चिम बंगाल दौरे के दौरान भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफिले पर हुए हमले की घटना को लेकर दावा किया कि गिरफ्तार हुआ व्यक्ति बीजेपी का कार्यकर्ता है। विवेक गुप्ता ने कहा कि भाजपा अभी से हार के कारणों की तलाश करने लगी है। इसके लिए पश्चिम बंगाल में हिंसा का नैरेटिव बनाया जा रहा है। जबकि एनसीआरबी के आंकड़ों से पता चलता है कि हकीकत विपरीत है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia