मीडिया के चेहरे से नकाब नोंच फेंका एक युवा पत्रकार ने, खुले मंच पर इस्तीफा देकर कहा- नहीं कर सकता पेशे से बेईमानी

एक न्यूज चैनल के युवा पत्रकार ने किसान महापंचायत में खुले मंच से अपने इस्तीफे का ऐलान करते हुए मीडिया के चेहरे से नकाब नोंच फेंका। इस पत्रकार ने कहा कि वह पत्रकारिता से बेईमानी नहीं कर सकता, इसलिए 12 लाख सालाना की नौकरी छोड़ रहा है।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में आरएलडी नेता जयंत चौधरी की किसान महापंचायत कवर करने पहुंचे एबीपी न्यूज चैनल के युवा पत्रकार रक्षित सिंह ने भरे मंच से अपने इस्तीफे का ऐलान कर दिया। इस्तीफा देते समय रक्षित ने कहा कि उसे चैनल की तरफ से आदेश मिला था कि वह पंचायत में पहुंचकर खाली कुर्सियां दिखाते हुए बताए कि किसान पंचायत फ्लॉप हो गई है। उसने कहा कि "मेरा जमीर गवाही नहीं देता कि मैं सच्चाई के बजाए कुछ और दिखाऊं या बोलूं।"

आरएलडी नेता जयंत चौधरी ने रक्षित के इस कदम की तारीफ की है।

इस्तीफा का ऐलान करने के बाद रक्षित सिंह ने अपने ट्विटर अकाउंट से वीडियो संदेश जारी कर सारी बात सामने रख दी है। उन्होंने कहा कि कई लोग उनके इस कदम को लेकर तरह-तरह के कयास लगा रहे हैं। लेकिन उनका इरादा कुछ और करने के बजाए सिर्फ पत्रकारिता ही करने का है।


रक्षित सिंह के इस कदम की चौतरफा तारीफ हो रही है। वरिष्ठ पत्रकार और फिल्मकार विनोद कापड़ी ने रक्षित सिंह को शाबाशी देते हुए कहा है कि काश ऐसी ही रीढ़ बाकी पत्रकारों और संपादकों की भी होती।

रक्षित सिंह ने किसान महापंचायत में सैकड़ों लोगों के सामने इस्तीफा देते हुए कहा कि "मेरा मकसद सच दिखाना था लेकिन मुझे रोका जा रहा है - इसलिए नौकरी छोड़ रहा हूं।" रक्षित सिंह ने कहा कि "मैं उस दिन का इंतजार नही कर सकता जब मेरा बेटा मुझसे सवाल करेगा कि बापू जब देश में अघोषित इमरजेंसी थी तो आपने क्या किया था !

वयोवृद्ध पत्रकार आरपी तोमर ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ज़मीनी पर रिपोर्टिंग करने वाले पत्रकारों को तमाम तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। टीवी एंकर जो कुछ भी परोस रहे हैं वो लोगों के गुस्से का सबब बनता जा रहा है। अफसोस यह है कि देश मे पक्षकारिता हो रही है और पत्रकारिता मरती जा रही है।

(आस मोहम्मद कैफ के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia