संबित पात्रा के ‘टूलकिट ट्वीट’ पर ट्विटर ने की कार्रवाई, ट्वीट को बताया ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’

संबित पात्रा ने 18 मई को एक ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने दावा किया था कि कांग्रेस ने एक टूलकिट के जरिए कोरोना संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि बिगाड़ने का काम कर रही है। उन्होंने दावा किया था कि कांग्रेस एक पीआर एक्सरसाइज कर रही है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा के उस ‘टूलकिट ट्वीट’ पर ट्विटर ने कार्रवाई की है, जिसमें उन्होंने कांग्रेस पर कोरोना संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि बिगाड़ने का आरोप लगाया था। ट्वीटर ने संबित पात्रा के इस ट्वीट पर एक्शन लेते हुए ट्वीट को ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’ करार दिया है, जिसमें लिखा है, “तोड़ मरोड़कर दिखाया गया मीडिया।” यानी ये दावा तथ्यात्मक रूप से सही नहीं है।

संबित पात्रा के ‘टूलकिट ट्वीट’ पर ट्विटर ने की कार्रवाई, ट्वीट को बताया ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’
HP

बता दें कि संबित पात्रा ने 18 मई को एक ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने दावा किया था कि कांग्रेस ने एक टूलकिट के जरिए कोरोना संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि बिगाड़ने का काम कर रही है। उन्होंने दावा किया था कि कांग्रेस एक पीआर एक्सरसाइज कर रही है, जिसके जरिए कुछ बुद्धिजीवियों की मदद से केंद्र के खिलाफ माहौल बनवाया जा रहा है। ट्वीट में एक कागज साझा किया गया, जिसमें कांग्रेस का लेटरहैड था और सोशल मीडिया पर किस तरह ट्वीट और जानकारी साझा करनी है, उसके बारे में बताया गया था।


ट्विटर द्वारा संबित पात्रा के ट्वीट पर एक्शन लेने के बाद कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने ट्वीट कर कहा, “हम नहीं कहते, जमाना कहता है।”

संबित पात्रा के ट्वीट पर आखिर क्यों ट्विटर ने की कार्रवाई?

दरअसल ट्विटर के नियमों के अनुसार, अगर किसी को जानकारी जो आपने ट्वीट की है, उसका स्रोत सटीक नहीं है और उपलब्ध कराई गई जानकारी भी गलत है तो इस तरह के ट्वीट पर ट्विटर ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’ का लेबल लगा देता है, जैसे कि संबित पात्रा के ट्वीट में ट्विटर ने एक्शन लेते हुए लगाया है। ट्विटर वीडियो, ट्वीट, फोटो या अन्य किसी भी कंटेंट पर लगाता है। गौरतलब है कि इससे पहले अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के दौरान डोनाल्ड ट्रंप के कई ट्वीट्स पर इस तरह के लेबल ट्विटर द्वारा लगाए गए थे। बाद में ट्रंप का ट्विटर अकाउंट ही हमेशा के लिए सस्पेंड कर दिया गया था।


इससे पहले कथित टूलकिट को लेकर कांग्रेस ने कड़ी प्रतिक्रिय दी थी। बीजेपी के आरोप को कांग्रेस ने सिरे से नकार दिया था। कांग्रेस पार्टी की ओर से दिल्ली पुलिस कमिश्नर को एक चिट्ठी लिखी थी और संबित पात्रा, जेपी नड्डा पर एफआईआर दर्ज करने की मांग की थी। वहीं, एनसयूआई ने संबित पात्रा के खिलाफ मामला भी दर्ज करवाया।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia