मुंबई में एक दिन में दो इमारत हादसे का शिकार, 6 लोगों की मौत, कई घायल, बचाव का काम जारी

मुंबई में गुरुवार को दो अलग-अलग इमारतों के ढहने के कारण मलबे में दब कर 6 लोगों की मौत हो गई, जबकि 30 से ज्यादा लोगों को एनडीआरएफ की टीम ने बचा लिया। दिन भर जारी बारिश के बीच एक हादसा मालवणी इलाके में हुआ, तो वहीं दूसरा हादसा फोर्ट इलाके में हुआ, जहां रेस्क्यू का काम जारी है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

मुंबई में आज दिन भर लगातार हो रही बारिश के बीच दो इमारत हादसे का शिकार हो गए, जिसमें कुल 6 लोगों की मौत हो गई और 30 के करीब लोग घायल हुए हैं। पहले दोपहर में मुंबई के मलाड के मालवाणी इलाके में तीन मंजिला झोपड़ीनुमा घर गिर गया और पिर शाम में फोर्ट इलाके में भारी बारिश से एक पांच मंजिला इमारत का एक हिस्सा ढह गया। वहां अभी भी राहत और बचाव का कार्य जारी है।

पहले मामले में, मलाड पश्चिम के मालवणी में भारी वर्षा के कारण तीन मंजिल इमारत ढह गई, जिसमें 18 साल के एक लड़के और 23 साल की एक लड़की की मलबे में दबकर मौत हो गई, जबकि 15 लोगों को मलबे से निकाला गया। चार-पांच लोगों के अभी भी मलबे में फंसे होने की आशंका है। मुंबई फायर ब्रिगेड और आपदा दल उन्हें बचाने की कोशिश में लगे हुए हैं। मृतकों की पहचान 23 वर्षीय महिला अंजुम एस शेख और 18 वर्षीय फैजल सईद के रूप में की गई है। मलबे से निकाले गए लोगों को मामूली चोट आई है, उन्हें इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

दूसरा हादसा दक्षिण मुंबई के फोर्ट इलाके में हुआ, जहां शाम को एक पांच मंजिला भानुशाली बिल्डिंग का पिछला हिस्सा बारिश के कारण गिर गया। एमएफबी और अन्य बचाव एजेंसियों ने मौके पर पहुंचकर इमारत के अन्य निवासियों को निकालने में मदद की। इस हादसे में 4 लोगों की मौत हो गई और मलबे से अब तक 15 लोगों को निकाल कर अस्पताल पहुंचाया गया है। कुछ और लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका पर अभी भी एनडीआरएफ की टीम बचाव में लगी है।

बीएमसी ने बताया कहा कि जिस इमारत की मरम्मत चल रही थी, उसे खाली कर दिया गया था। लेकिन कुछ लोग फिर भी वहां रह रहे थे। शाम को हादसे का मुआयना करने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे खुद पहुंचे और उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए। फिलहाल अभी इस गिरी इमारत का मलवा हटाने का काम जारी है। मुंबई फायर ब्रिगेड के साथ एनडीआरएफ की टीम रेस्क्यू ऑपेरशन चला रही है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia