जल ही जिंदगी: यूपी के लखनऊ में दूषित पानी पीने से दो बच्चों मौत! 12 से ज्यादा बच्चों की हालत गंभीर

प्रारंभिक जांच में पता चला है कि मरीज या तो फूड प्वाइजनिंग या गंदे पानी के सेवन से बीमार हुए थे। दोनों बच्चों की सोमवार को उनके घरों में मौत हो गई और उसके बाद एक दर्जन से अधिक को अस्पताल में भर्ती कराया गया

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

लखनऊ में दूषित पानी पीने से दो बच्चों की कथित तौर पर मौत हो गई और एक दर्जन से ज्यादा बच्चों को डायरिया और आंत्रशोथ के बाद डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सभी मरीज लखनऊ के बालू अड्डा मोहल्ले में रहते हैं।

प्रारंभिक जांच में पता चला है कि मरीज या तो फूड प्वाइजनिंग या गंदे पानी के सेवन से बीमार हुए थे। दोनों बच्चों की सोमवार को उनके घरों में मौत हो गई और उसके बाद एक दर्जन से अधिक को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

10 बच्चों में सात 12 साल से कम उम्र के हैं जबकि तीन 12 साल के हैं। अस्पताल के अधिकारियों ने कहा कि सभी 10 बच्चे और एक 35 वर्षीय महिला का इलाज अच्छा चल रहा है।

सिविल अस्पताल के निदेशक डॉ सुभाष सुंदरियाल ने कहा, "यह संक्रमण का मामला लगता है या तो फूड प्वाइजनिंग या गंदे पानी के सेवन से हुआ है। बच्चे सोमवार की शाम को तीव्र दस्त और आंत्रशोथ के साथ आए थे। वे सभी ठीक हो रहे हैं।"

मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) लखनऊ के नेतृत्व में चिकित्सा अधिकारियों की एक टीम ने क्षेत्र और अस्पताल का दौरा किया।


सीएमओ के निर्देश पर किसी भी आपात स्थिति के लिए इलाके में तीन एंबुलेंस को तैनात किया गया है, जब तक कि स्थिति नियंत्रण में नहीं आ जाती। क्षेत्र के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी और अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को अगले 48 घंटे तक अलर्ट रहने की सलाह दी गई है और इलाके में एक चिकित्सा दल तैनात किया गया है।

सीएमओ कार्यालय के आधिकारिक प्रेस बयान में कहा गया है, "निवासियों ने सूचित किया है कि क्षेत्र में गंदे पानी की आपूर्ति के कारण दो मरीजों की जान चली गई है। उन्होंने आगे सूचित किया है कि गंदे पानी की जांच शुरू करें और घरों में सप्लाई किए जा रहे पानी का क्लोरीनेशन और टूटी पाइप लाइन की मरम्मत के लिए जल विभाग को नियमित रूप से शिकायत की गई थी।"
हालांकि, जल विभाग ने कहा कि क्षेत्र से गंदे पानी की कोई शिकायत नहीं मिली है।

लखनऊ जल विभाग के सचिव राम कैलाश ने कहा, "हमें बालू अड्डा क्षेत्र में गंदे पानी की आपूर्ति के संबंध में ऐसी कोई शिकायत नहीं मिली है, लेकिन मैं क्षेत्र के कार्यकारी अभियंता से पूछताछ करूंगा और समस्या का समाधान करूंगा।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia