दिल्ली में बहुमंजिला इमारत के मलबे से निकाले गए 2 बच्चों की मौत, 15 दिन पहले ही विधायक ने MCD से की थी शिकायत

सतेंद्र जैन ने हादसे की जांच की मांग करते हुए कहा कि एमसीडी को जर्जर इमारतों पर तुरंत करवाई करनी चाहिए। एमसीडी ही इसपर कार्रवाई कर सकती है। उन्होंने कहा कि हमारे विधायक ने 15 दिन पहले ही एमसीडी को इसकी शिकायत की थी। इस मसले पर जांच होनी चाहिए।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

राजधानी दिल्ली के सब्जी मंडी इलाके में सोमवार दिन में गिरी बहुमंजिला इमारत के मलबे से निकाल गए दो बच्चों ने दम तोड़ दिया है। इस हादसे के बाद अभी तक 3 लोगों को निकाला गया था, जिनमें 9 वर्षीय और 12 वर्षीय दो बच्चे शामिल थे। सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन दोनों बच्चों को बचाया नहीं जा सका। इस घटना के बाद आसपास के निवासियों में डर का माहौल बना हुआ है।

एनडीआरएफ के कुल 46 कर्मी घटनास्थल पर मौजूद हैं और अंदर फंसे हुए लोगों को निकालने का प्रयास कर रहे हैं। जानकारी के अनुसार 2 से 3 लोगों के फंसे होने की आशंका जताई जा रही है। हालांकि, एनडीआरएफ ने अब तक फिजिकल और टेक्निकल सर्च कर लिया है और अब स्वान दस्ते द्वारा भी सर्च किया जा रहा है।


वहीं घटनास्थल का जायजा लेने पहुंचे दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन और विधायक दिलीप पांडेय ने बताया कि दोपहर में यह घटना हुई और बताया गया कि इसमें निर्माण कार्य हो रहा था। बिल्डिंग गिरने से दो बच्चों की मृत्यु हुई है, वहीं एक घायल का इलाज जारी है। सतेंद्र जैन ने हादसे की जांच की मांग करते हुए कहा कि एमसीडी को जर्जर इमारतों पर तुरंत करवाई करनी चाहिए। मुझे बताया गया है कि करीब 1100 ऐसी इमारतें हैं, इन्हें तोड़ना चाहिए। एमसीडी ही इसपर कार्रवाई कर सकती है। उन्होंने कहा कि हमारे विधायक ने 15 दिन पहले ही एमसीडी को इसकी शिकायत की थी। इस मसले पर जांच होनी चाहिए।

इससे पहले घटना के बाद उत्तरी दिल्ली नगर निगम के महापौर राजा इकबाल सिंह ने कहा कि लापरवाही करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि जो बिल्डिंग गिरी है उसमें निर्माण कार्य चल रहा था, लेकिन उन्होंने निगम से इसको लेकर कोई इजाजत नहीं ली थी। करीब 60 साल पुराना ढांचा है। मालिक ने बिना किसी इजाजत के रिनोवेशन का कार्य शुरू किया था। उन्होंने आगे कहा कि यदि कोई दोषी पाया जाएगा उसपर सख्त कार्यवाही की जाएगी।

गौरतलब है कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने कुल 699 इमारतों को खतरनाक चिन्हित किया गया है। वहीं निगम की ओर से नोटिस भी जारी किया जा चुका है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia